BSEB 12 CHE OBJ CH 04

Bihar Board 12th Chemistry Objective Chapter 4 रासायनिक बलगतिकी

जब कोई अभिक्रिया संपन्न होती है, तब अभिक्रिया के दौरान, अभिक्रिया की दर
(a) समय के साथ बढ़ती है।
(b) समय के खथ नियत रहती है।
(c) समय के साथ घटती है।
(d) समय के साथ अनियमित प्रवृत्ति को दशांती है।
Answer:
(c) समय के साथ घटती है।

अभिक्रिया 2SO2 + O2 → 2SO3  में, SO2, के अदृश्य होने की दर 1.28 x 10-5  mol s-1  है। so, के दृश्य होने की दर है
(a) 0.64 x 10-5 mol s-1
(b) 0.32 x 10-5 mol s-1
(c) 2.56 x 10-5 mol s-1
(d) 1.28 x 10-5 mol s-1
Answer:
(d) 1.28 x 10-5 mol s-1

अभिक्रिया 2x → Y, में, X का सान्द्रण 10 मिनट में 0.50 M से 0.38 M तक घटता है । इस अन्तराल के दौरान Ms-1 में अभिक्रिया की दर क्या है?
(a) 2 x 10-4
(b) 4 x 10-4
(c) 2 x 10-2
(d) 1 x 10-2
Answer:
(a) 2 x 10-4

निम्न में से कौन-सा उदाहरण भिन्नात्मक कोटि अभिक्रिया का है
(a) NH4 NO2 → N2 + 2H2O
(b) NO+O3 → NO+ O2
(c) 2NO + Br2 → 2NOBr
(d) CH3CHO→ CH4 +CO
Answer:
(d) CH3CHO→ CH4 +CO

अभिक्रिया 2H2 + 2NO → 2H2O + N2 के लिए दर स्थिरांक जिसको दर = K[H2][NO]2 है, का मात्रक है
(a) mol L-1 s-1
(b) s-1
(c) mol-2 L2 s-1
(d) mol L-1
Answer:
(c) mol-2 L2 s-1

अभिक्रिया X + Y → Z के लिए, दर α [X]
(i) आश्विकता क्या है तथा
(ii) अभिक्रिया की कोटि क्या है?
(a) (i) 2, (i) 1
(b) (i) 2 (ii) 2
(c) (i) 1.(i) 1
(d) (i)1 (ii) 2
Answer:
(a) (i) 2, (i) 1

अभिक्रिया P+ Q → 2R+S के लिए, निम्न में से कौन-सा कथन गलत है?
(a) P के अदृश्य होने की दर के दृश्य होने को दर
(b) Q के अदृश्य होने दर =2 x R के दृश्य होने की दर
(c) P के अदृश्य होने की दर के अदृश्य होने की दर
(d) Q के अदृश्य होने की दर =1/2 x R के दृश्य होने की दर
Answer:
(b) Q के अदृश्य होने दर =2 x R के दृश्य होने की दर

अभिक्रिया X + Y  के लिए, अभिक्रिया की दर सत्ताईस गुना हो जाती है जब X के सान्द्रण को तीन गुना बढ़ाया जाता है। अभिक्रिया की कोटि क्या है?
(a) 2
(b) 1
(c) 3
(d) 0
Answer:
(c) 3

अभिक्रिया का दर स्थिरांक किस पर निर्भर होता है?
(a) अभिक्रिया का ताप
(b) अभिक्रिया का विस्तार
(c) अभिकारकों का प्रारम्भिक सान्द्रण
(d) अभिक्रिया की समाप्ति का समय
Answer:
(a) अभिक्रिया का ताप

दर एवं दर स्थिरांक के मात्रक किस अभिक्रिया के लिए समान होते है?
(a) शून्य कोटि अभिक्रिया
(b) प्रथम कोटि अभिक्रिया
(c) द्वितीय कोटि अभिक्रिया
(d) तृतीय कोटि अभिक्रिया
Answer:
(a) शून्य कोटि अभिक्रिया

अभिक्रिया के एकल पद में भाग लेने वाले अभिकारकों के अणुओं की संख्या किमका सूचक है।
(a) अभिक्रिया की कोटि
(b) अभिक्रिया को आण्विकता
(c) अभिक्रिया की क्रियाविधि का तीन पद
(d) अभिक्रिया को अई-आयु
Answer:
(b) अभिक्रिया को आण्विकता

अभिक्रिया 2x+Y-2 के लिए दर समीकरण क्या होगा, यदि अभिक्रिया की कोटि शून्य है?
(a) दर =k [X][Y]
(b) दर =k
(c) दर = [X]°[Y]
(d) दर =k [X][Y]°
Answer:
(c) दर = [X]°[Y]

अभिक्रिया की कुल मिलाकर दर किसके द्वारा निश्चित की जाती है?
(a) तीव्रतम मध्यस्थित पद की दर
(b) सभी मध्यस्थित पदों की दरों का कुल योग
(c) सभी मध्यस्थित पदों की दरों का औसत
(d) सबसे मन्द मध्यस्थित पद की दर
Answer:
(d) सबसे मन्द मध्यस्थित पद की दर

प्रथम कोटि अभिक्रिया के प्रकरण में दर स्थिरांक है
(a) सान्द्रण मात्राओं के व्युत्क्रमानुपाती
(b) सान्द्रग मात्रकों पर अनाश्रित
(c) सान्द्रण मात्रकों के समानुपाती
(d) सान्द्रग मात्रकों के वर्ग के व्युत्क्रमानुपाती
Answer:
(b) सान्द्रग मात्रकों पर अनाश्रित

प्रथम कोटि अभिक्रिया का अर्द्ध-आयु काल 10 min है। 100 min में पूर्ण हई अभिक्रिया का प्रतिशत क्या होगा?
(a) 25%
(b) 50%
(c) 99.9%
(d) 75%
Answer:
(c) 99.9%

छद्म एकाणुक अभिक्रिया में ।
(a) दोनों अधिकारक निम्न सान्द्रण में उपस्थित होते हैं।
(b) दोनों अधिकारक समान सान्द्रग में उपस्थित होते हैं।
(c) एक अधिकारक अधिकता में उपस्थित होता है।
(d) एक अधिकारक अक्रियात्मक होता है।
Answer:
(c) एक अधिकारक अधिकता में उपस्थित होता है।

एक प्रथम कोटि अभिक्रिया 10 मिनट में 20% पूर्ण हो जाती है। अभिक्रिया के लिए विशिष्ट दर नियतांक क्या है?
(a) 0.0970 min-1
(b) 0.009 min-1
(c) 0.0223 min-1
(d) 2.223 min-1
Answer:
(c) 0.0223 min-1

एक प्रथम कोटि अभिक्रिया का दर स्थिरांक 1.15 x 10-3 -1  है। कितने समय में अभिकारक के 5 g घटकर 3 g रह जाएंगे?
(a) 444 s
(b) 400 s
(c) 528 s
(d) 669 s
Answer:
(a) 444 s

रेडियोधर्मी विघटन किसका उदाहरण है?
(a) शून्य कोटि अभिक्रिया
(b) प्रथम कोटि अभिक्रिया
(c) द्वितीय कॉटि अभिक्रिया
(d) तृतीय कोटि अभिक्रिया
Answer:
(b) प्रथम कोटि अभिक्रिया

समय के सापेक्ष log (a – x) का प्लॉट एक सरल रेखा होती है। यह सूचित करता है कि अभिक्रिया है
(a) शून्य कोटि की
(b) प्रथम ओटि की
(c) द्वितीय कोटि को
(d) तृतीय कोटि की
Answer:
(b) प्रथम ओटि की

Question 21.
शून्य कोटि की अभिक्रिया के पूर्ण होने के लिए आवश्यक समय की गणना का व्यंजक है

Answer:
(a)

किस स्थिति में एक द्विअणुक अभिक्रिया गतिक रूप से प्रथम कोटि की हो सकती है?
(a) जब दोनों अधिकारकों के सान्द्रग समान हो।
(b) जब एक क्रिया करने वाली स्पीशीज बड़े आधिक्य में हो।
(c) जय अभिक्रिया साम्यावस्था में हो।
(d) जब अभिक्रिया को सक्रियण ऊर्जा कम हो।
Answer:
(b) जब एक क्रिया करने वाली स्पीशीज बड़े आधिक्य में हो।

एथिल ऐसीटेट का जल-अपघटन,
Bihar Board 12th Chemistry Objective Answers Chapter 4 रासायनिक बलगतिकी 13
किसकी अभिक्रिया है?
(a) शुन्य कोटि की
(b) उदम प्रथम कोटिकी
c) द्वितीय कोटि की
(d) तृतीय कोटि की
Answer:
(b) उदम प्रथम कोटिकी

किस अभिक्रिया की दर ताप के साथ बढ़ती है?
(a) ऊष्माक्षेपी अभिक्रिया
(b) कामाशोपी अभिक्रिया
(c) उपरोक्त में से कोई भी
(d) उपरोका में से कोई नहीं
Answer:
(c) उपरोक्त में से कोई भी

हाइड्रो कार्वन का विघटन समीकरण k = (4.5 x 1011S-1 ) e-28000 K/T  का पालन करता है। सक्रियण ऊर्जा का मान क्या होगा?
(a) 669 kJ mol-1
(b) 232.79 KJ mol-1
(c) 4.5 x 10 KJ mol-1
(d) 28000 kJ mol-1
Answer:
(b) 232.79 KJ mol-1

रासायनिक अभिक्रिया की दर की ताप निर्भरता को अरेनियस समीकरण द्वारा वर्णित किया जा सकता है जो है

Answer:
(b)

ऊष्माशोषी अभिक्रिया के लिए,  ΔHKJ, mol-1 में अभिक्रिया की एन्चैल्पी को व्यक्त करता है। सक्रियण ऊर्जा की न्यूनतम माश होगी
(a) शून्य से कम
(b) ΔH के तुल्य
(c) ΔH से कम
(d) ΔH से अधिक
Answer:
(d) ΔH से अधिक

300°C पर किसी प्रथम कोटि की अभिक्रिया के लिए दर स्थिरांक,जिसके लिए Ea 35Kcal, mol-1 एवं आवृत्ति स्थिरांक 1.45 x 10 s-1है
(a) 10 x 10-2s-1
(b) 5.37 x 10-10s-1
(c) 5 x 10-4s-1
(d) 7.94 x 10-3s-1
Answer:
(d) 7.94 x 10-3s-1

अभिकारकों के सान्द्रण में वृद्धि से किसमें परिवर्तन होता है?
(a) ΔΗ
(b) संघट्ट आवृत्ति
(c) सक्रियण कर्जा
(d) साम्य स्थिरांक
Answer:
(b) संघट्ट आवृत्ति

वर स्थिरांक को समीकरण , k = p. Ze-E/RT. द्वारा दिया गया है। अभिक्रिया को और अधिक तेजी से संपन्न होने के लिए किस घटक को उत्तरदायी होना चाहिए?
(a) T
(b) Z
(c) E
(d) P
Answer:
(c) E

दहेली ऊर्जा तुल्य होती है
(a) सक्रियण ऊर्जा के
(b) सक्रियम ऊर्जा – अणुओं की ऊर्जा के
(c) सक्रिवण कर्जा + मणों की कर्जा के
(d) इनमें से कोई नहीं
Answer:
(c) सक्रिवण कर्जा + मणों की कर्जा के

एक उत्प्रेरक की भूमिका किसे परिवर्तित करने की है।
(a) अभिक्रिया की गिब्ज ऊर्जा
(b) अभिक्रिया की एोल्पी
(c) अभिक्रिया की सक्रियण ऊर्जा
(d) साम्य स्थिरांक
Answer:
(c) अभिक्रिया की सक्रियण ऊर्जा

उत्प्रेरक की उपस्थिति में, अभिक्रिया के दौरान निकली उष्मा या अवशोषित ऊष्मा…….।
(a) बढ़ती है।
(b) घटती है।
(c) अपरिवर्तित रहती है।
(d) बढ़ पा घट सकती है।
Answer:
(c) अपरिवर्तित रहती है।

किसी रासायनिक अभिक्रिया की सक्रियण ऊर्जा को किसके द्वारा निर्धारित किया जा सकता है?
(a) मानक ताप पर दर स्थिराक को निर्धारित करके।
(b) दो तापमान पर दर स्थिरांकों को निर्धारित करके ।
(c) संघट की प्रायिकता को निर्धारित करके।
(d) प्रयुका उत्प्रेरक ।
Answer:
(b) दो तापमान पर दर स्थिरांकों को निर्धारित करके ।

अभिक्रिया A+ 28 → C के लिए दर नियम दर =k [A][B]अभिकारक ‘B’ का सान्द्रण दुगुना हो जाता है, ‘A’ का सान्द्रण नियत दर स्थिरांक का मान होगा
(a) समान
(b) दुगुना
(c) चौगुणा
(d) आधा
Answer:
(c) चौगुणा

एक प्रथम कोटि की अभिक्रिया 1.26 x 1014 5 में 50% पूर्ण हो जाती है। 100% पूर्ण करने के लिए यह कितना समय लेगी?
(a)1.26 x 1015 s
(b) 2.52 x 1014 5
(c) 2.52 x 1028 5
(d) अनन्त
Answer:
(d) अनन्त

Leave a Reply

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *