STUDY METERIAL GEOGRAPHY 14

(अध्ययन सामग्री): भूगोल – विश्व का भूगोल “कुछ प्रमुख महासागर”


अध्ययन सामग्री: विश्व का भूगोल


कुछ प्रमुख महासागर

जैसा कि पहले बताया जा चुका है, कुल जलाशयों के विस्तार का लगभग 93 प्रतिशत भाग प्रशान्त, अटलाटिक, हिन्द और आर्कटिक महासागर के पास है । अतः हम इन्हीं के बारे में थोड़ा-सा परिचय प्राप्त करेंगे –

1. प्रशान्त महासागर –

यह विश्व का सबसे बड़ा महासागर है, जो पृथ्वी का लगभग 1/3 भाग घेरे हुए है । यह सबसे बड़ा ही नहीं बल्कि सबसे गहरा महासागर भी है । चूंकि यह बहुत ही अधिक गहरा है, इसलिए कुछ अधिक ही शांत है । शायद इसीलिए इसका नाम प्रशांत रखा गया है । इसकी मरिआना खाई समुद्र तल से लगभग 11000 मीटर है । जबकि इस महासागर की औसत गहराई 4572 मीटर गहरी ही है । इस महासागर में लगभग 20000 द्वीप (आयलैंड) हैं । इनमें से अधिकांश आयलैंड या तो ज्वालामुखियों से उत्पन्न हुए हैं या फिर प्रवाल से बने हैं।
इस महासागर की एक विशेषता यह है कि इसमें मध्य महासागरीय कटक नहीं हैं । हाँ, स्थानीय महत्त्व के कुछ कटक जरुर हैं, जो बिखरे हुए हैं । इस महासागर के कुछ प्रमुख द्वीप – समूह हैं – जापान, फिलीपीन्स, इण्डोनेशिया एवं न्यूजीलैण्ड आदि ।
इसके कुछ तटीय समुद्र हैं – बियरिंग सागर, जापान सागर, चीन सागर तथा पीत सागर आदि ।

2. अटलांटिक महासागर –

यह प्रशान्त महासागर का आधा एवं पृथ्वी के कुल क्षेत्रफल का 1/6 भाग है । इसकी आकृति रोमन के अक्षर से मिलती-जुलती है । यह महासागर इस मायने में बहुत महत्त्वपूर्ण है कि यह पश्चिम में उत्तरी एवं दक्षिण महाद्वीप से घिरा हुआ है तथा पूर्व में यूरोप और अफ्रीका से । दक्षिण में इसकी सीमा अंटार्कटिक महाद्वीप तक है और उत्तर में आइसलैंड तक ।
अटलांटिक महासागर में स्थित कुछ प्रमुख द्वीप-समूह हैं – ब्रिटेन, सेंट सेलन, न्यू फाउंडलैण्ड तथा त्रिनिडाड आदि ।

3. हिन्द महासागर –

यह पहले के दो महासागरों से छोटा है । यह एशिया तथा अफ्रीका के बीच में फैला हुआ है । और जैसा कि नाम से ही स्पष्ट है, यह भारत की सीमा को स्पर्श करता है । यह दुनिया का एकमात्र ऐसा महासागर है, जिसका नाम किसी देश पर है और सौभाग्य से यह देश है – हिन्दुस्तान ।
इस महासागर की औसत गहराई 4000 मीटर है । इसमें बहुत कम महासागरीय खाइयाँ हैं ।
इसके प्रमुख द्वीप-समूह हैं – मेडागास्कर, श्रीलंका, जंजीबार तथा अंडमान-निकोबार ।
प्रशान्त एवं अटलांटिक महासागरों की तुलना में हिन्द महासागर में सीमान्त सागरों की संख्या कम ही है । इसके प्रमुख सीमान्त सागर है अरब सागर, लाल सागर, बंगाल की खाड़ी तथा अंडमान सागर ।

4. उत्तरध्रुवीय महासागर –

यह उत्तरी ध्रुव पर स्थित महासागर है, जो बर्फ से ढँका रहता है । कैनेडियन एवं न्यू साइबेरियन द्वीप समूह इसके प्रमुख द्वीप हैं ।

कुछ प्रमुख तथ्य –

  •  तीन ओर स्थल तथा एक ओर समुद्र से घीरे भाग को खाड़ी कहते हैं; जैसे बंगाल की खाड़ी ।
  • दो सागरों को मिलाने वाली पतली जलधारा को मध्य जलडमरु कहा जाता है ।
  •  धु्रवीय महासागरों का अधिकांश भाग बर्फ से ढंका रहता है । 
Leave a Reply

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

error: Content is protected !!