भारत सरकार अधिनियम

भारत सरकार अघिनियम, 1935 अधिनियम के पारित होने की परिस्थितियां वर्ष 1919 के मांटफोर्ड सुधारों को कांग्रेस ने “असंतोषजनक, अपर्याप्त और निराशाजनक” कहा। इसने दिसम्बर 1921 में असहयोग आंदोलन प्रारंभ किया, जिसमें केंद्रीय एवं प्रांतीय विधानमंडलों  का बहिष्कार सम्मिलित था। 1935 के भारत सरकार अधिनियम के पारित होने के लिये प्रमुख उत्तरदायी कारक निम्नानुसार थे- […]

प्रांतीय विधान सभा चुनाव

प्रांतीय विधान सभा चुनाव, 1937 द्वितीय चरण की रणनीति पर बहस 1937 के प्रारंभ में प्रांतीय विधान सभाओं हेतु चुनाव कराने की घोषणा कर दी गयी तथा इसी के साथ ही सत्ता में भागेदारी के प्रश्न पर द्वितीय चरण की रणनीति पर बहस प्रारंभ हो गयी। इस बात पर सभी राष्ट्रवादियों में आम सहमति थी […]

भारत स्वतंत्रता एवं विभाजन की ओर

स्वतंत्रता एवं विभाजन की ओर, 1939-1947 द्वितीय विश्व युद्ध की पूर्व संध्या पर कांग्रेस की स्थिति कांग्रेस युद्ध में ब्रिटेन को सहयोग करेगी यदि- युद्धोपरांत भारत की स्वतंत्रता प्रदान कर दी जाये। तथा अतिशीघ्र, केंद्र में किसी प्रकार की वास्तविक एवं उत्तरदायी सरकार की स्थापना की जाये। 1 सितम्बर, 1939: द्वितीय विश्व युद्ध प्रारंभ तथा ब्रिटेन […]

द्वितीय विश्व युद्ध और राष्ट्रवादी प्रतिक्रिया

द्वितीय विश्व युद्ध और राष्ट्रवादी प्रतिक्रिया 1 सितम्बर, 1939 : जर्मनी ने पोलैंड पर आक्रमण किया, द्वितीय विश्वयुद्ध प्रारम्भ।3 सितम्बर 1939 : ब्रिटेन ने जर्मनी के विरुद्ध युद्ध घोषणा की तथा ब्रिटेन ने भारतीय जनमत की सलाह के बिना युद्ध में भारत के समर्थन की घोषणा कर दी।जून 1941: जर्मनी ने सोवियत संघ पर हमला किया तथा उसे […]

लाहौर प्रस्ताव

पाकिस्तान प्रस्ताव-लाहौर मार्च 1940 23 मार्च 1940 को मुस्लिम लीग का वार्षिक अधिवेशन लाहौर में हुआ। इस अधिवेशन में प्रसिद्ध ‘पाकिस्तान प्रस्ताव’ पारित किया गया। इस प्रस्ताव की रुपरेखा तैयार करने में खलीक उज्जमां, फजल-उल-हक तथा सिकदार हयात खां ने महत्वपूर्ण भूमिका निभायी। इस प्रस्ताव को फजल-उल-हक ने प्रस्तुत किया तथा खलीक उज्जमां ने इसका अनुमोदन […]

अगस्त प्रस्ताव

अगस्त प्रस्ताव, 1940 1940 द्वितीय विश्वयुद्ध में हिटलर की असाधारण सफलता तथा बेल्जियम, हालैंड एवं फ्रांस के पतन के पश्चात् ब्रिटेन की स्थिति अत्यन्त नाजुक हो गयी, फलतः ब्रिटेन ने समझौतावादी दृष्टिकोण की नीति अपनायी। युद्ध में भारतीयों का सहयोग प्राप्त करने के उद्देश्य से 8 अगस्त 1940 को वायसराय लिनलिथगो ने एक घोषणा की, जिसे अगस्त […]

क्रिप्स मिशन

क्रिप्स मिशन भारत के राजनीतिक गतिरोध को दूर करने के उद्देश्य से ब्रिटिश प्रधानमंत्री चर्चिल ने ब्रिटिश संसद सदस्य तथा मजदूर नेता सर स्टेफर्ड क्रिप्स के नेतृत्व में मार्च 1942 में एक मिशन भारत भेजा। हालांकि इस मिशन का वास्तविक उद्देश्य, युद्ध में भारतीयों को सहयोग प्रदान करने हेतु उन्हें फुसलाना था। सर क्रिप्स, ब्रिटिश […]

भारत छोड़ो आंदोलन

भारत छोड़ो आंदोलन क्रिप्स मिशन के उपरांत, गाँधीजि ने एक प्रस्ताव तैयार किया जिसमे अंग्रेजों से तुरन्त भारत छोड़ने तथा जापानी आक्रमण होने पर भारतीयों से अहिंसक असहयोग का आहान किया गया था। कांग्रेस कार्यसमिति ने वर्धा की अपनी बैठक (4 जुलाई 1942) में संघर्ष के गांधीवादी प्रस्ताव को अपनी स्वीकृति दे दी। संघर्ष क्यों […]

राजगोपालाचारी फार्मूला

राजगोपालाचारी फार्मूला 1944 इस बीच संवैधानिक गतिरोध को हल करने के प्रयास बराबर चल रहे थे। परिप्रेक्ष्य में कुछ व्यक्तिगत प्रयास भी समस्या के समाधान हेतु किये गये। व्यल्यिगत स्तर पर गतिरोध को हल करने हेतु कुछ सुझाव दिये गये तथा प्रस्ताव पेश किए गये। इसी तरह का व्यक्तिगत स्तर पर एक प्रयास कांग्रेस के […]

देसाई-लियाकत समझौता

देसाई-लियाकत समझौता 1945 अभी भी गतिरोध को दूर के प्रयास करने के प्रयास चल रहे थे। इन्हीं प्रयासों के तहत केंद्रीय विधान मंडल में कांग्रेस के नेता भूलाभाई देसाई, केंद्रीय विधानमंडल में ही मुस्लिम लीग के उपनेता लियाकत अली खान से मिले तथा दोनों ने मिलकर केंद्र में अंतरिम सरकार के गठन हेतु एक प्रस्ताव […]

error: Content is protected !!