वाणिज्यिक (नकदी) फसल: तम्बाकू

Commercial (cash) Crops: Tobacco- Nicotiana tabacum

तम्बाकू (निकोटिनिआ): तम्बाकू का भारतीय अर्थव्यवस्था में महत्वपूर्ण योगदान है। भारत के कुल कृषि योग्य क्षेत्र में से मात्र 0.25 प्रतिशत क्षेत्र में तम्बाकू की खेती होती है। तम्बाकू की निकोटिनिया टोबैकम प्रजाति भारत के लगभग हर राज्य में उत्पादित होती है। निकोटिनिया रस्टिका का उत्पादन उत्तर और उत्तर-पूर्वी भारत में होता है।

फ्लू क्योरड वर्जीनिया (एफसीवी) तंबाकू अत्यधिक चिकनी काली कपासी मृदा में उगाई जाती है तथा कर्नाटक में प्राकृतिक मानसून फसल के तौर पर हल्की मिट्टी में उगाई जाती है तथा आंध्र प्रदेश में इसकी पैदावार एक सिंचाईकृत फसल के रूप में होती है। बीड़ी, हुक्का और चबाने वाले तंबाकू की खेती उत्तर प्रदेश, पंजाब, महाराष्ट्र, तमिलनाडु तथा पश्चिम बंगाल में होती है।

तम्बाकू की फसल मृदुल तापमान तथा मृदुल से भारी वर्षा वाली दशाओं में बेहतर होती है। यह पाले के प्रति अत्यधिक संवेदनशील होती है। अत्यधिक भारी वर्षा हालांकि फसल की पैदावार में कमी करती है तथा पती में अम्ल की मात्रा में वृद्धि करती है। इस फसल के लिए उपयुक्त मृदा निम्न जल धारित क्षमता वाली हल्की बलुआ और दोमट मिट्टी है। यह मिट्टियां अच्छी बनावट वाली पत्तियों को उत्पन्न करती हैं जो बनावट में हल्के रंग, पतली तथा बड़ी होती हैं। भारी मृदा गहरे रंग की छोटी, भारी, और तीव्र गंध वाली पत्तियों को उत्पन्न करेगी। मृदा बेहतर जल निकास वाली होनी चाहिए।

तम्बाकू के उत्पादन के लिए खेत की दो या तीन बार गहरी जुताई आवश्यक होती है। इसकी खेती पौध-स्थानांतरण द्वारा होती है। कर्नाटक में तम्बाकू की बुआई अप्रैल-मई में, आंध्र प्रदेश में अगस्त-सितम्बर में, बिहार, उत्तर प्रदेश और पश्चिम बंगाल में अगस्त से अक्टूबर के बीच होती है।

तम्बाकू की उच्च उत्पादकता वाली किस्में हैं- हेमा, गौतमी, वर्जीनिया 1158, सी.एम. 12, भव्या।

प्रजातियां: निकोटिनिया टोबैकम, निकोटिनिया रस्टिका, हेरिसन स्पेशल, चैथम स्पेशल तथा बाटा स्पेशल।

तम्बाकू उत्पादन में आंध्र प्रदेश का भारत में प्रथम स्थान है। इस राज्य में गुंटूर, कृष्णा, पूर्वी गोदावरी, पश्चिमी गोदावरी आदि में तम्बाकू की खेती की जाती है। गुजरात भारत का दूसरा सबसे बड़ा गन्ना उत्पादक राज्य है। इस राज्य में खेड़ा तथा वड़ोदरा में तम्बाकू का उत्पादन किया जाता है। कर्नाटक में बेलगाम, मैसूर, कोलार, मंड्या आदि जिले में तम्बाकू का उत्पादन किया जाता है। तमिलनाडु में थांचबूर, मदुरै, तिरुचिरापल्ली, कोयम्बटूर आदि जिले में तम्बाकू का उत्पादन किया जाता है। महाराष्ट्र, उत्तर प्रदेश, पंजाब और बिहार अन्य तम्बाकू उत्पादक राज्य हैं।

Leave a Reply

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *