उपवर्ग

उपवर्ग यूथीरिया Subclass Eutheria

  • इस उपवर्ग में उच्च स्तनधारी सम्मिलित होते हैं।
  • इनमें बाह्य कर्ण उपस्थित होता है।
  • इनमें भ्रूण मादा के गर्भाशय में विकसित होता है।
  • इस उपवर्ग के मादा पूर्ण विकसित बच्चे को जन्म देती है।
  • इनमें स्तन ग्रन्थियाँ पूर्ण विकसित होती है तथा इनमें स्तनाग्र (Teats) पाये जाते हैं।
  • इनके जबड़े में दाँत पाये जाते हैं। इनमें गर्भाशय तथा योनि पूर्ण विकसित होते हैं तथा आपस में संयुक्त होकर योनिमार्ग (Vagina) बनाते हैं।
  • इनके मस्तिष्क में महासंयोजक (Corpus callosum) होता है।
  • इनमें निषेचन आन्तरिक (Internal) होता है।
  • इनमें गुदा (Anus) तथा जनन मूत्र छिद्र अलग-अलग होता है। अवस्कर (Cloaca) नहीं होता है।
  • खोपड़ी की अस्थियों के बीच की धारियाँ स्पष्ट होती हैं।

उदाहरण: पैंगोलिन (Pangolin), छुछुंदर (Mole), उड़ने वाली लोमड़ी (Flying fox), हिस्ट्रिक्स (Hystrix), चूहा (Rat), खरगोश (Rabbit), गिनी पिग (Guinea pig), कुत्ता (Dog), बाघ (Tiger), सिंह (Lion), भारतीय हाथी (Indian elephant), गधा (Ass), ब्लू व्हेल (Blue whale), मनुष्य (Man) आदि।

महत्वपूर्ण तथ्य:

  • पूर्वी आस्ट्रेलिया और तस्मानिया के मैदान में पाया जाने वाले मैक्रोपस (Macropus) का साधारण नाम कंगारु (Kangaroo) है।
  • चमगादड़ (Bat) का वैज्ञानिक नाम vespertilio है। यह रात्रिचर, कीटभक्षी स्तनी है।
  • बाघ का वैज्ञानिक नाम Panthera tigris है। यह भारत का राष्ट्रीय पशु है।
  • ब्लू व्हेल सबसे बड़ा स्तनधारी प्राणी है।
  • shrew सबसे छोटा स्तनधारी प्राणी है।
  • एकिड्ना (Echidna) को सामान्यतः कंटकमय चींटीखोर (Spiny anteater) कहते हैं क्योंकि इसका शरीर कटकों से ढंका रहता है।
  • आर्निथोरिंकस (Ornithorhynchus) को सामान्यतः बत्तख चोंचा (Duck billed platypus) कहा जाता है।

उपवर्ग मेटाथीरिया Sub Class Metatheria

  • इस उपवर्ग के जन्तु न तो अण्डे देते हैं और न ही पूर्ण विकसित बच्चे को जन्म देते हैं अर्थात् ये अपरिपक्व बच्चे को जन्म देते हैं। बाद में इस बच्चे का विकास माता के उदर में स्थित विशेष थैली में होता है जिसे मार्सूपियल थैली कहते हैं।
  • इस उपवर्ग के जन्तुओं में स्तन ग्रन्थियाँ पायी जाती हैं लेकिन इसके चुचुक (Teats) मार्सूपियल थैली में खुलते हैं और यहीं से अविकसित बच्चे का पोषण होता है।
  • इनमें बाह्य कर्ण (Externalear) उपस्थित होता है।
  • इनके शरीर का तापमान हमेशा समान रहता है।
  • ये एकदंती (Monophyodent) होते हैं।

उदाहरण- कंगारू (Kangaroo), डाइडेल्फिस आदि।

उपवर्ग प्रोतोथीरिया Sub class Prototheria

  • ऐसे स्तनधारी कई लक्षणों में सरीसृपों की तरह होते हैं।
  • ये अण्डे देने वाले स्तनधारी हैं। इसलिए इन्हें ओवीपेरस (Oviparous) कहते हैं।
  • इस उपवर्ग के सदस्यों में स्तन ग्रन्थियाँ उपस्थित होती हैं, लेकिन उनमें चुचुक (Teats) नहीं पाये जाते हैं।
  • इनमें बाह्य कर्ण अनुपस्थित होता है।

उदाहरण- एकिडना (Echidna), ऑर्निथोरिंकस (Ornithorhynchus) आदि।

Leave a Reply

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *