उपधातु

Metalloid

जो तत्व धातु और अधातु दोनों के गुण प्रदर्शित करते हैं, उन्हें उपधातु या Metalloid कहा जाता है। आवर्त सारणी में इनकी स्थिति धातुओं और अधातुओं के मध्य में है। उपधातुओं की संख्या 7 है, जो इस प्रकार है- (1) बोरोन (B), (2) सिलिकन (Si), (3) जर्मेनियम (Ge), (4) आर्सेनिक (As), (5) एन्टिमनी (Sb), (6) टेलेरियम (Te), (7) पोलोनियम (Po).

बोरोन (Boron): बोरोन के यौगिक B2O3, का उपयोग बोरिक एसिड नामक दवा बनाने में, कांच उद्योग में, प्रयोगशाला में बोरेक्स बीड टेस्ट आदि में होता है। बोरोन का उपयोग अकार्बनिक ग्रेफाइटअकार्बनिक बेंजीन तथा बोरिक एसिड (H3BO3) बनाने में होता है। बोरिक एसिड का उपयोग एन्टीसेप्टिक दवा के निर्माण में होता है। यह कांच उद्योग में भी व्यवहृत होता है। साथ ही इसका उपयोग खाद्य-पदार्थों के परिरक्षण में होता है।

एन्टिमनी (Antimony): एन्टिमनी (Sb) के यौगिक एन्टिमनी सल्फाइड (Sb2S3) का उपयोग दियासलाई की तीली के सिरे पर लगने वाले ज्वलनशील पदार्थ के रूप में होता है।

जर्मेनियम (Germenium): जर्मेनियम (Ge) का उपयोग ट्रांजिस्टर बनाने में होता है। जर्मेनियम का उपयोग फोटो इलेक्ट्रिक सेल (Photo Electric Cell) में होता है। सोलर सेल में जर्मेनियम, सीजियम आदि का प्रयोग होता है।

पोलोनियम (Polonium): पोलोनियम (Po) के सर्वाधिक संख्या में समस्थानिक पाये जाते हैंI (27) पोलोनियम प्रथम मानव तत्व (First Man Made Element) है।

आर्सेनिक (Arsenic): कंप्यूटर चिप्स (Computer Chips) के उत्पादन में गैलियम आर्सेनाइड नामक नवीनतम पदार्थ का प्रयोग किया जा रहा है। गैलियम आर्सेनाइड अर्द्धचालक की भाँति व्यवहार करता है।

Leave a Reply

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *