सौरमंडल के ग्रह

The Planet Of The Solar System

बुध Mercury

  • सूर्य से निकटतम ग्रह।
  • सूर्य की परिक्रमा 87 दिन 23 घंटे।
  • बुध का एक दिन पृथ्वी के 90 दिनों के बराबर।
  • परिणाम में पृथ्वी का 18वां भाग।
  • बुध पर वायुमंडल का आभाव है।

शुक्र Venus

  • सूर्य से दूसरा ग्रह तथा पृथ्वी से सर्वाधिक नजदीक ग्रह है।
  • सबसे अधिक चमकीला ग्रह कहा जाता है। प्रातः कल यह पूर्व में और सायंकाल में पश्चिम की ओर दिखायी देता है।
  • सर्वाधिक लम्बे दिन व रात होते हैं।
  • आकर औए द्रव्यमान में पृथ्वी के बराबर और स्वरूप में समान होने के कारण इसे पृथ्वी की बहन भी कहा जाता है।
  • वायुमंडल का घनत्व पृथ्वी के वायुमंडल की अपेक्षा 15 गुना है।

चंद्रमा Moon

  • व्यास-पृथ्वी के व्यास का लगभग एक चौथाई (3776 किमी.)।
  • गुरुत्वाकर्षण बल- पृथ्वी का 1/6 भाग।
  • चंद्रमा के पृथ्वी के चरों ओर घुमने की अवधि 27 दिन, 7 घंटे, 43 मिनट।
  • चंद्रमा के प्रकाश की पृथ्वी तक पहुँचने में लगा समय 1.3 सेकेण्ड।
  • रासायनिक संघटक – मुख्यतः सिलिकन, लोहा और मैग्नीशियम।
  • चंद्रमा पर वायुमंडल का आभाव होने के कारण वहां ध्वनि सुनाई नहीं देती है।
  • चन्द्रमा का उच्चतम पर्वत लिबनिज पर्वत (35,000 फीट) है।
  • चन्द्रमा के भौतिक भूगोल का अध्ययन करने वाले विज्ञान को सैलेनोग्राफी कहते हैं।
  • चंद्रमा का 54% भाग ही पृथ्वी से देखा जा सकता है।
  • चन्द्रमा का वह भाग जो पृथ्वी से नहीं देखा जा सकता है। सी ऑफ़ ट्रैन्क्विलिटी कहलाता है।
  • चंद्रमा पर करीब 30,000 क्रेटर हैं। क्लैवियस (सबसे बड़ा). टायको, कपरनिकस ये क्रेटर उल्कापतीय तथा ज्वालामुखीय हैं।
  • चन्द्रमा सूर्य की भांति भूमध्य रेखा के सन्दर्भ में उत्तरायन व दक्षिणायन होता है। चन्द्रमा 290उ. से 280द. के बीच 29.9 दिनों में भ्रमण करता है, जिसे संयुति मास कहते हैं।
  • पूरे सौरमंडल में सामान्य उपग्रह से बहुत बड़ा। यह पृथ्वी के आकार का ¼ है। सामान्य उपग्रह अपने मूल ग्रह के आकर का 8वां भाग होते हैं।
  • चन्द्रमा की पृथ्वी से अधिकतम दूरी 40336 किमी. व न्यूनतम दूरी 354340.8 किमी. है।
  • चंद्रमा की आयु 460 करोड़ वर्ष है।

पृथ्वी या नीला ग्रह Earth or Blue Planet

  • आकर में पृथ्वी का स्थान 5वां है।
  • आकार और बनावट में पृथ्वी शुक्र ग्रह के समान है।
  • अन्तरिक्ष से देखने पर पृथ्वी का रंग पानी व वायुमंडल के कारण नीला दिखायी देता है।
  • पृथ्वी का एकमात्र उपग्रह चंद्रमा है।

मंगल या लाल ग्रह Mars or Red Planet

  • सूर्य से चौथा ग्रह सूर्य की परिक्रमा- 1 साल, 321 दिन तथा आकार में अंडाकार है।
  • रासायनिक संघटक- कार्बन डाइऑक्साइड 95%, नाइट्रोजन 2-3%, आर्गन 2%, कुछ मात्र में बर्फ, अमोनिया तथा मीथेन भी पाई जाती हैं।
  • मंगल का सबसे ऊँचा पर्वत ज्वालामुखी निक्स ओलम्पिया।
  • मंगल के दो उपग्रह- फोबोस तथा डेमोस हैं।
  • मंगल व वृहस्पति के बीच क्षुद्र ग्रह मिलते हैं।

वृहस्पति Jupiter

  • सूर्य से 5वां ग्रह, सूर्य की परिक्रमा 11 साल, 315 दिन तथा 1 घंटा।
  • सौरमंडल का सबसे बड़ा ग्रह।
  • वृहस्पति ग्रह के 63 उपग्रह हैं, जिनमे गैनिमीड, कैलिस्टो, आयो यूरोपा आदि प्रमुख हैं। गैनिमीड सौरमंडल का सबसे बड़ा उपग्रह है।
  • वृहस्पति के लाल धब्बे की खोज पायनियर अंतरिक्ष अभियान द्वारा की गयी थी।
  • सबसे भारी ग्रह एवं इसका पलायन वेग सर्वाधिक (59.4 किमी. / सेकेण्ड) है।

शनि Saturn

  • आकाश में सौरमंडल का दूसरा सबसे बड़ा ग्रह।
  • टाइटन – कैसिनी ह्यूजेन्स मिशन – टाइटन उपग्रह  से सम्बंधित खोज।
  • शनि की सबसे बड़ी विशेषता – इसके चतुर्दिक वलय, जिनकी अब तक कुल ज्ञात संख्या 10 है।
  • रासायनिक संघटक – मुख्यतः हाइड्रोजन और हीलियम गैस, कुछ मात्र में मीथेन और अमोनिया
  • शनि के उपग्रह – 31
  • टाइटन शनि का सबसे बड़ा उपग्रह है, जो बुध के बराबर है। टाइटन पर नाइट्रोजनीय वातावरण और हाइड्रोकार्बन मिले हैं।
  • शनि के अन्य मुख्य उपग्रहों के नाम- मीमांस, एनसीलग्डू, टेथिस, रीया और फोवे आदि हैं।
  • सबसे कम घनत्व वाला ग्रह (0.7) है।
  • फोवे शनि की कक्षा के विपरीत परिक्रमा करता है।
  • शनि आँखों से देखा जाने वाला अंतिम ग्रह है।

अरुण Uranus

  • सूर्य से सातवां ग्रह।
  • आकार में तीसरा ग्रह तापमान 215 डिग्री सेल्सियस।
  • खोज 1781 ई. में सर विलियम हर्शेल द्वारा।
  • सूर्य की परिक्रमा करने में लगा समय 84 वर्ष, 6 दिन, 3 घंटे।

वरुण Neptune

  • सूर्य से 8वां ग्रह।
  • आकाश में सौरमंडल में चौथा सबसे बड़ा ग्रह।
  • इस ग्रह के चरों तरफ 5 वलय हैं।
  • कुल उपग्रह 11 हैं।
  • पहला उपग्रह ट्रिटोन है, दूसरा नेरिड है, अन्य उपग्रह N-1, N-2, N-3, N-4, N-5 आदि हैं।

खागोलीय पिंडों का नया वर्गीकरण The New Classification of Celestial Bodies

  • 24 अगस्त, 2006 को चेक गणराज्य के प्राग शहर में अंतर्राष्ट्रीय खालोगीय संघ (IAU) के 75 देशों के भूगोलवेत्ताओं ने भाग लिया, जिसमे ग्रहों की निम्नलिखित श्रेणियां बनायी गयीं।
  • पारंपरिक ग्रह – बुध, शुक्र, पृथ्वी, मंगल, वृहस्पति, शनि यूरेनस नेपच्यून।
  • प्लूटोंस – सेरिस व् ईरिस (जेना) जो नेपच्यून ग्रह से आगे लगभग वर्तमान सौरमंडल की सीमा से बाहर।
  • स्माल, सोकर सिस्टम बॉडीज – मंगल ग्रह व वृहस्पति की कक्षा के बीच बड़ी संख्या में उपग्रह एवं आकाशीय पिंड।
Leave a Reply

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *