सुचेता कृपलानी

सुचेता कृपलानी 150pxपूरा नाम सुचेता कृपलानी अन्य नाम सुचेता मज़ूमदार जन्म 25 जून, 1908 जन्म भूमि अम्बाला, हरियाणा मृत्यु 1 दिसंबर, 1974 पति/पत्नी जे. बी. कृपलानी नागरिकता भारतीय प्रसिद्धि भारत की प्रथम महिला मुख्यमंत्री पार्टी भारतीय राष्ट्रीय कांग्रेस पद उत्तर प्रदेश की चौथी मुख्यमंत्री कार्य काल 2 अक्तूबर, 1963 – 13 मार्च, 1967 शिक्षा बी.ए, […]

रमेश चन्द्र झा

रमेशचन्द्र झा जन्म 08 मई 1928मोतिहारी, बिहार मृत्यु 07 अप्रैल 1994मोतिहारी,बिहार व्यवसाय स्वतंत्रता सेनानी, कवि, कथाकार, पत्रकार भाषा हिन्दी, अंग्रेज़ी भाषा, भोजपुरी, मैथिली, संस्कृत राष्ट्रीयता भारतीय अवधि/काल 50’s, 60’s, 70’s जीवनसाथी सूर्यमुखी देवी सन्तान विनायक झा, रीता झा सम्बन्धी संजीव कुमार झा (पौत्र) हस्ताक्षर चित्र:R.C. Jha Signature.jpg रमेशचन्द्र झा (8 मई 1928 – 7 अप्रैल 1994) भारतीय स्वाधीनता संग्राम में सक्रिय क्रांतिकारी थे […]

भारत छोड़ो भाषण

भारत छोड़ो भाषण 8 अगस्त 1942 को भारत छोड़ो आंदोलन छेड़ते समय महात्मा गांधी द्वारा दिया गया भाषण है। इसी भाषण में उन्होंने भारतीयों से दृढ़ निश्चय के लिए आह्वान करते हुए ‘करो या मरो’ का नारा दिया। उनका भाषण बॉम्बे (अब मुंबई) के गोवालिया टैंक मैदान पार्क में दिया गया था, जिसका नाम बदलकर अब ‘अगस्त क्रांति मैदान‘ रखा दिया गया है। […]

भारत छोड़ो आन्दोलन

भारत छोड़ो आन्दोलन, द्वितीय विश्वयुद्ध के समय 8 अगस्त 1942 को आरम्भ किया गया था।[1] यह एक आन्दोलन था जिसका लक्ष्य भारत से ब्रिटिश साम्राज्य को समाप्त करना था। यह आंदोलन महात्मा गांधी द्वारा अखिल भारतीय कांग्रेस समिति के मुम्बई अधिवेशन में शुरू किया गया था। यह भारतीय स्वतंत्रता संग्राम के दौरान विश्वविख्यात काकोरी काण्ड के ठीक सत्रह साल बाद ९ अगस्त सन १९४२ को गांधीजी के आह्वान पर समूचे […]

पद्मजा नायडू

पद्मजा नाइडू (1900 – 2 मई 1975[1]) भारतीय राजनीतिज्ञ सरोजिनी नायडू की सुपुत्री थीं।[2] उन्होने अपनी माँ की तरह भारत के हितों के लिए खुद को समर्पित कर दिया था। केवल इक्कीस वर्ष की उम्र में वे भारत की राष्ट्रीय राजनीति में प्रवेश कर कई थीं, जब उन्हें भारतीय राष्ट्रीय काँग्रेस की हैदराबाद इकाई का संयुक्त संस्थापक बनाया गया। उन्होने विदेशी सामानों के बहिष्कार करने […]

तृतीय गोलमेज सम्मेलन

तृतीय गोलमेज सम्मेलन का आरम्भ 17 नवम्बर से 24 दिसम्बर 1932 को हुआ था। इस सम्मेलन में कांग्रेस ने भाग नहीं लिया था। तीनों सम्मेलनों के दौरान इंग्लैण्ड का प्रधानमंत्री रैम्जे मैकडोनाल्ड था। इस सम्मेलन के समय भारत के सचिव सेमुअल होर थे। सम्मेलन में भाग लेने वाले सदस्यों की कुल संख्या 46 थी। [1][2] 1- इस सम्मेलन में ब्रिटेन के प्रधानमंत्री मैकडोनाल्ड नहीं 1932 […]

द्वितीय गोलमेज सम्मेलन

द्वितीय गोलमेज सम्मेलन 7 सितम्बर ,1931 को शुरू हुआ था ,जिसमें कांग्रेस ने भी भाग लिया था और 1 दिसम्बर 1931 को समाप्त हुआ था। यह सम्मेलन भी लन्दन में ही था।[1] यह सम्मेलन साम्प्रदायिक समस्या पर विवाद के कारण असफल रहा। लन्दन से वापस आकर गाँधीजी ने पुनः सविनय अवज्ञा आन्दोलन प्रारम्भ किया। [2] 1-इस सम्मेलन में कांग्रेस ने भाग लिया था जिसमें कांग्रेस की ओर से नेतृत्व महात्मा गांधी ने किया था! 2- […]

प्रथम गोलमेज सम्मेलन

प्रथम गोलमेज सम्मेलन 12 नवम्बर ,1930 से 13 जनवरी ,1931 तक लन्दन में आयोजित किया गया था। यह सम्मेलन कांग्रेस के बहिष्कार के फलस्वरूप 19 जनवरी , 1931 को समाप्त हो गया था। [1][2] यह समेलन 12 नवम्बर को प्राम्भ हुआ था जिसका उद्घाटन ब्रिटिश सम्राट जार्ज पंचम द्वारा किया गया तथा इसकी अध्यक्षता ब्रिटिश प्रधानमंत्री रैम्जे मैकडोनाल्ड द्वारा की गई थी इस सम्मेलन में भाग लेने वाले […]

हिन्दुस्तान ग़दर

गदर अख़बार (उर्दू) वॉल्यूम। 1, नंबर 22, 28 मार्च 1914 हिन्दुस्तान ग़दर  ग़दर पार्टी की प्रतिनिधि एक हफ़्तावार प्रकाशन था। इसको अमेरिकी शहर सैन फ़्रांसिस्को में ‘युगांत्र आश्रम’ से प्रकाशित किया गया था। इसका मक़्सद भारत के आज़ादी संग्राम के सेनानियों को दृढ़ करना, ख़ासकर ब्रितानी भारतीय सेना में भारतीय देश-भक्तों को मज़बूत बनाना था। 1912–1913 में प्रवासी भारतियों ने […]

हिंदू-जर्मन षड्यंत्र

इस पृष्ठ के कुछ भाग हिन्दी के अतिरिक्त अन्य भाषा में भी लिखे गए हैं। आप इनका अनुवाद करके bhartimedia.in की सहायता कर सकते हैं। हिन्दु जर्मन षडयन्त्र(नाम), १९१४ से १९१७ के (प्रथम विश्व युद्ध) दौरान ब्रिटिश राज के विरुद्ध एक अखिल भारतीय विद्रोह का प्रारम्भ करने के लिये बनाई योजनायो से सम्बद्ध है। इस षडयन्त्र मे भारतीय राष्ट्वादी […]

error: Content is protected !!