देवकांत बरुआ

देवकांत बरुआ
जन्म२२ फरवरी १९१४
आवासभारत
राष्ट्रीयताभारत
नागरिकताभारत

देवकांत बरुआ (२२ फरवरी १९१४ – २८ जनवरी १९९६) असम राज्य के एक भारतीय राजनीतिज्ञ थे, जो आपातकाल (१९७५-७७) के दौरान भारतीय राष्ट्रीय कांग्रेस के अध्यक्ष के रूप में कार्यरत थे। वे अपने “इन्दिरा भारत हैं, भारत इन्दिरा है” के कथन के लिए जाने जाते है और इसे इन्दिरा गांधी की चापलूसी और अतिशयोक्ति भरी तारीफ के रूप में देखा जाता है।[1]

वे पहले १ फरवरी १९७१ से ४ फरवरी १९७३ तक बिहार के राज्यपाल भी रहे।

Leave a Reply

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *