यूसुफ़ मेहर अली

यूसुफ़ मेहर अली (23 सितंबर1903 – 2 जुलाई1950) एक समाजवादी विचारधारा वाले राजनेता व स्वतंत्रता सेनानी थे। उन्हें 1942 में बॉम्बे का मेयर चुना गया था,[1] जब वे यरवदा सेंट्रल जेल में कैद थे।[2]

वह नेशनल मिलीशिया, बॉम्बे यूथ लीग और कांग्रेस सोशलिस्ट पार्टी के संस्थापक थे,[3] और उन्होंने कई किसान और ट्रेड यूनियन आंदोलनों में भूमिका निभाई। उन्होंने ‘साइमन गो बैक’ का नारा गढ़ा था।[4]

भारत छोड़ो” का नारा भी उन्होंने ही दिया था,[5][6] और ब्रिटिश साम्राज्य से स्वतंत्रता के लिए भारत के इस अंतिम राष्ट्रव्यापी अभियान में महात्मा गांधी के साथ उन्होंने भी महत्वपूर्ण भूमिका निभाई थी।

सन्दर्भ

Leave a Reply

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *