ख़ालिस्तान आंदोलन

खालिस्तान (पंजाबी: ਖ਼ਾਲਿਸਤਾਨ) प्रस्तावित देश का नाम है।[1] सिख अधिकतर भारतीय पंजाब व पाकिस्तानी पंजाब में आबाद हैं और अमृतसर में उनके मत्वपूर्ण राजनैतिक और धार्मिक अकाल तख्त स्थित है। 1980 के दशक में ख़ालिस्तान की प्राप्ति के आंदोलन जोरों पर थे जिसे विदेशों में रहने वाले सिखों का वित्तीय और नैतिक समर्थन प्राप्त था।[2] भारत सरकार ने अमृतसर पर सैन्य कार्रवाई करके इस आंदोलन (आन्दोलन) को कुचल डाला। कनाडा में बबर खालसा पर यह आरोप भी लगा कि उसने भारतीय यात्री विमान को उड़ान के दौरान टाइम बम द्वारा विस्फोट करके उसे नष्ट कर दिया। आतंकवाद पर युद्ध शुरू होने के बाद यह विमान घटना कनाडा और पश्चिमी मीडिया में खूब उछाला गया।[3]