अजबदे पंवार

अजबदे पंवार महाराणा प्रताप की पत्नी तथा अमरसिंह सिसोदिया की माँ थी। इनके पिता का नाम राव माम्रक सिंह तथा माता का नाम हंसा बाई था। अजबदे पंवार ने महाराणा प्रताप की राजनीतिक मामलों में काफी मदद की थी। [1] विवाह परन्तु राजनीतिक परिस्थितियों के कारण उन्ह अकबदे पंवार से दूर रहना पड़ा। पर फिर मारवाड़ से युद्ध जीत कर। जंगल से राव मम्रक जी राणा उदय सिंह […]

जगत गोसाई

यह लेख मुग़ल बादशाह जहाँगीर की बीवी के बारे में है। मुग़ल बादशाह अकबर की बीवी के लिए, मरियम उज़-ज़मानी देखें। जगत गोसाई उर्फ़ जोधा बेगमجگت گوسین‎ मुग़ल मलिका जन्म मई १३, १५१९जोधपुर, हिन्दुस्तान निधन अप्रैल १८, १६१९ समाधि सोहागपुरा पूरा नामराजकुमारी श्री मानवती बाईजी लाल साहिबा घराना भारत राजवंश मुग़ल पिता राजा उदयसिंह माता= महारानी मानववती सोतेली मां=महारानी हर्षिबती , महारानी […]

जिलिया

जिलिया गढ़ राजस्थान के नागौर जिले में स्थित एक स्थान है। इसे झिलिया, अभयपुरा, अभैपुरा, मारोठ, मारोट, महारोट, महारोठ आदि नामों से भी जानते हैं। इसका आधिकारिक नाम ठिकाना जिलिया (अंग्रेज़ी:Chiefship of Jiliya, चीफ़शिप ऑफ़ जिलिया) व उससे पूर्व जिलिया राज्य (अंग्रेज़ी:Kingdom of Jiliya, किंगडम ऑफ़ जिलिया) था। जिलिया मारोठ के पांचमहलों की प्रमुख रियासत थी जिसका राजघराना मीरा बाई तथा मेड़ता के राव जयमल के वंशज हैं। […]

मरियम उज़-ज़मानी

मरियाम उज़-ज़मानीمریم الزمانی‎ मलिका-ए-हिंदोस्तान मरियम उज़-ज़मानी जोधा बेगम का चित्रण जन्म 1542आमेर, हिन्दुस्तान निधन 1623 संतान जहाँगीरहसनहुसैन पूरा नाममारियम-उज़-ज़मानी जोधा बेगम घराना कच्छवाहा राजवंश मुग़ल पिता राजा भारमल धर्म हिन्दू मरियम उज़-ज़मानी जोधा बेगम साहिबा (नस्तालीक़: مریم الزمانی بیگم صاحبہ‎; जन्म 1542, एक राजवंशी राजकुमारी थी जो मुग़ल बादशाह जलाल उद्दीन मुहम्मद अकबर से शादी के बाद मल्लिका-ऐ-हिन्दुस्तान बनीं। वे जयपुर की आमेर रियासत के राजा भारमल की पुत्री […]

महारानी जयवंताबाई

महारानी जयवंताबाई जीवनसंगी महाराणा उदय सिंह संतान महाराणा प्रताप घराना सिसौदिया राज भवन धर्म हिंदु महारानी जयवंताबाई महाराणा उदय सिंह की पहली पत्नी थी , और इनके पुत्र का नाम महाराणा प्रताप था। यह राजस्थान के जालौर की एक रियासत के अखे राज सोंगरा चौहान की बेटी थी। उनका शादी से पहले जीवंत कंवर नाम था जो शादी के बाद बदल दिया गया। जयवंता बाई उदय सिंह […]

राजपुताना

राजस्थान पहले राजपुताना के रूप में जाना जाता था। 1909 का ब्रिटिशकालीन नक्शामौजूदा राजस्थान के ज़िलों का मानचित्र राजपुताना जिसे रजवाड़ा भी कहा जाता है। राजपूतों की राजनीतिक सत्ता आयी तथा ब्रिटिशकाल में यह राजपुताना नाम से जाने जाना लगा।[1] इस प्रदेश का आधुनिक नाम राजस्थान है, जो उत्तर भारत के पश्चिमी भाग में अरावली की पहाड़ियों के दोनों ओर फैला हुआ है। इसका अधिकांश भाग […]

रूठी रानी

रूठी रानी जैसलमेर की राजकुमारी मारवाड़ की रानी कार्यकाल ल. 1537 – 1562 निधन 10 नवम्बर 1562केलवा, मेवाड़, भारत जीवनसंगी मालदेव राठौड़ राजवंश भाटी पिता रावल लुणकरन भाटी धर्म हिन्दू धर्म उमादे भटियानी (निधन 1562; अन्य नाम उमराव, उमा देवी) मारवाड़ के शासक मालदेव राठौड़ की दूसरी पत्नी थी। उन्हें अपने पति के साथ तनावपूर्ण सम्बंधों के कारण रूठी रानी की उपाधि मिली।[1] परिवार उमादे जैसलमेर […]

नवरतनगढ़

नवरतनगढ़Navratangarh नवरतनगढ़ दुर्ग स्थान: सिसई, गुमला ज़िला, झारखंड क्षेत्रफल: 11 हे॰ (27 एकड़) प्रकार: सांस्कृतिक देश:  भारत राज्य: झारखंड नवरतनगढ़ (Navratangarh) भारत के झारखंड राज्य के गुमला ज़िले में स्थित एक ऐतिहासिक स्थान है। यह नागवंशी राजवंश की एकराजधानी था, जो कभी इस क्षेत्र पर शासन करता था। उस राजवंश के राजा बैरीसाल (1599-1614) ने अपनी राजधानी खुखरागढ़ से हटाकर यहाँ कर दी थी। यहाँ के दुर्ग […]

हरि निवास महल

हरि निवास महल भारत के जम्मू में एक महल है। इसके एक तरफ तवी नदी है और दूसरी तरफ त्रिकुटा पहाड़ियां है। इतिहास महल का निर्माण जम्मू और कश्मीर के अंतिम महाराजा हरि सिंह (1895 – 1961) के द्वारा 20 वीं शताब्दी में किया गया था, जो 1925 में अपने पुराने मुबारक मंडी महल से यहां आकर बस गए थे। यहां उन्होंने बंबई (अब मुंबई) जाने से पहले, कश्मीर […]

गुजरी महल (ग्वालियर)

ग्वालियर दुर्ग के भूतल भाग में गुजरी महल स्थित है। जिसका निर्माण राजा मान सिंह ने 15वीं शताब्दी मे एक गुर्जरी के प्रेम में करवाया था तथा दोनों के नाम महल के शिलालेख पर अंकित है [1][2] ग्वालियर किले का पर प्रतिहार राजाओं के बनाए तेली मंदिर सिद्धांचल जैन गुफा व चतूर्भूज मंदिर जैसे स्मारक भी मौजूद है। गूजरी महल ७१ मीटर […]