हिन्द-पहलव साम्राज्य

हिन्द-पहलव साम्राज्य
 
12 ईसा पूर्व–130 ईस्वी 
हिन्द-पहलव साम्राज्य का अधिकतम विस्तार क्षेत्र
राजधानीतक्षशिला
काबुल
भाषाएँआरामाईक
यूनानी (यूनानी वर्णमाला)
पाली (खरोष्ठी लिपि)
संस्कृतप्राकृत (ब्राह्मी लिपिपहलवी (पहलवी लिपि)
धार्मिक समूहहिन्दू धर्म
बौद्ध धर्म
पारसी धर्म
यूनानी धर्म
शासनराज-तन्त्र
राजा
 – 20 ईसा पूर्वगॉन्डोफर्नीज प्रथम
ऐतिहासिक युगप्राचीनकाल
 – गॉन्डोफर्नीज प्रथम12 ईसा पूर्व
 – अंत130 ईस्वी

हिन्द-पहलव साम्राज्य (अंग्रेज़ी: Indo-Parthian Kingdom) गॉन्डोफर्नी वंश तथा अन्य शासकों, जो कि मुख्यतः मध्य एशिया के शासकों का समूह था, द्वारा प्रथम शताब्दी ईस्वी में शासित एक साम्राज्य था। इस साम्राज्य का विस्तार क्षेत्र वर्तमान में उत्तर-पश्चिमी भारतपाकिस्तान तथा अफ़ग़ानिस्तान के हिस्सों में था। गॉन्डोफर्नी राजाओं ने अधिकांश समय तक्षशिला को अपनी राजधानी बनाया, मगर शासन के अंतिम समय में उनकी राजधानी काबुल व पेशावर के मध्य स्थानांतरित हो गयी। इनके सिक्के पहलवी साम्राज्य से प्रभावित थे इस कारण से इन्हें हिन्द-पहलव नाम से जाना गया।

सन्दर्भ

  • “लेस पलेत्तेस दु गान्धार”, हेनरी-पॉल फ्रैन्कफर्ट, डिफ्यूजन दी बोकार्द, पेरिस, 1979
  • “रिपोर्ट्स ऑन द कैम्पैन्स 1956-1958 इन स्वात (पाकिस्तान)”, डोमेनिको फैसेना
  • “स्कल्प्चर फ्रॉम द सेक्रेड साइट ऑफ़ बुत्कारा I”,डोमेनिको फैसेना

बाहरी कड़ियाँ

श्रेणियाँ

Leave a Reply

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *