अम्बादेवी शैलाश्रय

अम्बादेवी शैलाश्रय
Ambadevi rock shelters

“प्राणी उद्यान” शैल कला
अम्बादेवी शैलाश्रयमध्य प्रदेश में स्थितिमध्य प्रदेश के मानचित्र परभारत के मानचित्र परसभी दिखायें
वैकल्पिक नामसतपुड़ा-ताप्ति घाटी गुफाएँ, गाविलगढ़-बेतुल शैलाश्रय
स्थानबैतूल ज़िला (मध्य प्रदेश), अमरावती ज़िला (महाराष्ट्र)
क्षेत्रसतपुड़ा पर्वतमाला
निर्देशांक21.4071°N 77.9481°Eनिर्देशांक21.4071°N 77.9481°E[1]
प्रकारसांस्कृतिक
लम्बाई6 कि॰मी॰ (3.7 मील)
चौड़ाई10 कि॰मी॰ (6.2 मील)
इतिहास
कालउत्तर पुरापाषाण कालमध्यपाषाण कालचाल्कोलिथिकलौह युग

अम्बादेवी शैलाश्रय (Ambadevi rock shelters) गुफ़ाओं का एक विस्तारित परिसर है, जिसमें भारतीय उपमहाद्वीप पर मानव जीवन के सबसे पुराने ज्ञात चिन्ह मिले हैं। यह भारत के मध्य प्रदेश राज्य के बैतूल ज़िले और महाराष्ट्र राज्य के अमरावती ज़िले पर फैले हुई सतपुड़ा पर्वतमाला की गाविलगढ़ पहाड़ियों में स्थित है। यहाँ के गुफा चित्रों और शैलोत्कीर्ण के अध्ययन से यह अनुमान लगाया जाता है कि प्रागैतिहासिक मानव यहाँ लगभग 25,000 वर्ष पूर्व से बसना आरम्भ हुए। इनकी खोज भारतीय पुरातत्वशास्त्री डॉ विजय इंगोले ने 27 जनवरी 2007 को की और समय के साथ यहाँ और अवशेष मिलते रहे। इसका नाम समीप के अम्बादेवी गुफा मंदिर के ऊपर रखा गया।[2][3][4]

इन्हें भी देखें

सन्दर्भ

  1.  “Amba Devi Cave”. mapcarta. अभिगमन तिथि June 30, 2020.
Leave a Reply

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *