I have a Dream

Summary- Martin Luther King (Bihar Board) | Hindi & English

I have a Dream” has been written/delivered by Martin Luther King, Jr. He was one of the greatest writers of his time. He wrote many stories, speeches and essays. This is one of them. He has presented this story very well.He dreamt the life of Negro. Life was very pitiable in America. They faced a lot of problems. The main cause was distinguished between Blacks and Whites. The Whites did not behave with blacks. They always fought with each other. They were not happy with their life.
According to Martin Luther, if they will not get their rights, then it will be fatal for the nation. If they will be ignored, then it would be dangerous for the nation. He believed that one day, the whole of America will walk hands with hands. There will not be any differences between poor and rich. Really it was a great dream of Martin Luther King, jr.

 हिंदी में

“मेरा एक सपना है”, मार्टिन लूथर किंग(जूनियर) द्वारा दिया गया एक भाषण है | वे अपने समय के महान लेखकों में से एक थे | उन्होंने बहुत सारी कहानियों, लेखों और भाषणों को लिखा | यह उनमें से एक है | उन्होंने इस भाषण को बहुत ही अच्छे ढंग से प्रस्तुत किया है |
                    वे नीग्रो जाति के जीवन के बारे में सपना देखे थे | उनलोगों का जीवन अमेरिका में बहुत ही कठिन था | वे लोग बहुत सारी मुसीबतों का सामना करते थे | इसका मुख्य कारण गोरे और काले में रंगभेद का अंतर था | गोरे लोग, काले लोगों के साथ अच्छा व्यवहार नहीं करते थे | वे हमेशा एक-दूसरे से लड़ते झगड़ते रहते थे | वे लोग अपने जीवन से खुश नहीं थे |
मार्टिन लूथर के अनुसार, यदि उनलोगों को अपना अधिकार नहीं मिलेगा तो यह राष्ट्र के लिए घातक होगा और अगर उनलोगों को अनदेखा किया जाएगा तो यह राष्ट्र के लिए खतरनाक सिद्ध होगा | उन्हें विश्वास था कि एक दिन पूरा अमेरिका एक साथ हाथ में हाथ मिलाकर चलेगा | उस समय अमीरों और गरीबों के बीच कोई भेदभाव नहीं रहेगा | सचमुच मार्टिन लूथर का यह सपना बहुत ही महान था |

I Have a Dream Summary

In English

I Have a Dream” is a speech delivered by Martin Luther King, Jr on the steps of the Lincoln Memorial in Washington DC on August 28, 1963. Here he speaks about his dream of seeing America as a developed country. He wants his country free from the racial distinction between the whites and the black. The speech brings a great change in the country.

King himself establishes as one of the greatest orators of the world. In his speech, he requests his audience to maintain peace and conduct their movement with dignity. He reminds the authority of his promises that were made one hundred years ago. He parents the poor and bad condition of the negro slaves. They live in slums and ghettos. They are deprived of their right to vote.

They are cruelly treated by the police. They have lost all hopes of life. He demands that they must be now provided with their right if America wants to be a great nation. Lastly, he says that there will be freedom and justice everywhere. Incoming generations will not be judged by the colour of their skin but by the context of their character. There is hope for the transformed situation where all black people will be able to join hands with all the white people and walk.

मेरा एक सपना हैं सारांश

हिंदी में

मेरा एक घर हैं“, मार्टिन लूथर किंग, जूनियर द्वारा 28 अगस्त, 1963 को वाशिंगटन डीसी में लिंकन मेमोरियल की सीढ़ियों पर दिया गया एक भाषण है। यहाँ वह अमेरिका को एक विकसित देश के रूप में देखने के अपने सपने के बारे में बोलते हैं। वह अपने देश को गोरों और काले के बीच के नस्लीय भेद से मुक्त करना चाहते है। उनका भाषण देश में एक महान परिवर्तन लाता है।

किंग स्वयं को दुनिया के महानतम संस्थापकों में से एक के रूप में स्थापित करते है। अपने भाषण में, वह अपने दर्शकों से शांति बनाए रखने और गरिमा के साथ अपने आंदोलन का संचालन करने का अनुरोध करते है। वह अपने वादों के अधिकार की याद दिलाते है जो एक सौ साल पहले किए गए थे। वह नीग्रो गुलामों की खराब स्थिति को बताते है। वे झुग्गियों और यहूदी बस्ती में रहते हैं। वें लोग वोट देने के अधिकार से वे वंचित रहते हैं।

उनके साथ पुलिस द्वारा क्रूरतापूर्ण व्यवहार किया जाता है। उन्होंने जीवन की सभी आशाओं को खो दिया है। वें माँग करते है कि उन्हें अब उनका अधिकार प्रदान किया जाना चाहिए अगर अमेरिका एक महान राष्ट्र बनना चाहता है। अंत में, वह कहते है कि हर जगह स्वतंत्रता और न्याय होगा। आने वाली पीढ़ियों को उनकी त्वचा के रंग से नहीं बल्कि उनके चरित्र के संदर्भ से आंका जाएगा। उन्हें रूपांतरित स्थिति के लिए आशा (सपना) है जहाँ सभी काले लोग, सभी गोरे लोगों के साथ हाथ से हाथ मिलकर चल पायेंगे।

Leave a Reply

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *