भारत रत्न पुरस्कार विजेताओं की सूची

भारत रत्न भारत का सर्वोच्च नागरिक सम्मान है। इस पुरस्कार को पाने वालों की सूची निम्न है :

अनुक्रम

1954—1960

वर्षपुरस्कार विजेताटिप्पणी
1954सी राजगोपालाचारीसमाज सेवा
एक भारतीय स्वतंत्रता कार्यकर्ता, राजनेता, और वकील, राजगोपालाचारी स्वतंत्र भारत के एकमात्र और अंतिम भारतीय गवर्नर जनरल थे।[1]
सर्वपल्ली राधाकृष्णनदार्शनिक
1962 से, उनका जन्मदिन 5 सितंबर को भारत में “शिक्षक दिवस” ​​के रूप में मनाया जाता है।
चन्द्रशेखर वेंकटरमनविज्ञान
प्रकाश की बिखरने और प्रभाव की खोज पर अपने काम के लिए व्यापक रूप से जाना जाता है, जिसे “रमन बिखराव” के रूप में जाना जाता है,
1955भगवान दासब्रह्मविद्यावादी
1921 में महात्मा गांधी काशी विद्यापाठ की सह-स्थापना की। उन्होंने बनारस हिंदू विश्वविद्यालय की स्थापना में मदन मोहन मालवीय की सहायता भी की।
एम विश्वेश्वरैयाविज्ञान (अभियन्ता)
इनका जन्मदिन, 15 सितंबर, भारत में “अभियन्ता दिवस” ​​के रूप में मनाया जाता है।
जवाहर लाल नेहरूसमाज सेवा
नेहरू भारत का सबसे पहले और सबसे लंबे समय तक प्रधान मंत्री (1947-64) थे।।
1957गोविन्द बल्लभ पन्तसमाज सेवा
उत्तर प्रदेश के पहले मुख्यमंत्री (1950-54)
1958धोंडो केशव कर्वेसमाज सेवा
सामाजिक सुधारक और शिक्षक, 1916 में श्रीमती नाथीबाई दामोदर थ्रैक्रसे महिला विश्वविद्यालय शुरू किया।

1961—1970

वर्षपुरस्कार विजेताटिप्पणी
1961100pxबिधान चंद्र रॉयचिकित्सा,
बिधान चंद्र रॉय एक प्रतिष्ठित चिकित्सक और एक स्वतंत्रता सेनानी थे। वे 1948 से 1962 तक बंगाल के मुख्यमंत्री थे। 1 जुलाई को उनका जन्मदिन देश भर में राष्ट्रीय डॉक्टर दिवस के रूप में मनाया जाता है।
पुरुषोत्तम दास टंडनसमाज सेवा,
एक स्वतंत्रता सेनानी, पुरुषोत्तम दास टंडन को राजर्षि का खिताब दिया गया था। उन्हें हिंदी को आधिकारिक भाषा बनाने के अभियान के लिए याद किया जाता है।
1962राजेंद्र प्रसादसमाज सेवा,
राजेंद्र प्रसाद 1950 से 1962 तक भारत के राष्ट्रपति थे। वह स्वतंत्रता सेनानी थे और असहयोग आंदोलन में शामिल थे। वह एक महान विद्वान, एक वकील और राजनेता भी थे।
1963जाकिर हुसैनसमाज सेवा,
ज़ाकिर हुसैन 1962 से 1967 तक भारत का उपराष्ट्रपति और 1967 से 1969 तक राष्ट्रपति रहे। 1948 से 1956 तक अलीगढ़ मुस्लिम विश्वविद्यालय के कुलपति भी थे।
पांडुरंग वामन काणेसाहित्य सेवा,
केन एक संस्कृत विद्वान और साथ ही इंडोलोजिस्ट भी थे। उनके अपने स्मारकीय कार्य “धर्मशास्त्र का इतिहास: भारत में प्राचीन और मध्यकालीन धार्मिक और नागरिक कानून” के लिए याद किया जाता है।
1966लाल बहादुर शास्त्रीसमाज सेवा,
लाल बहादुर शास्त्री 1964 से 1966 तक भारत के प्रधान मंत्री थे। उन्होंने 1965 में पाकिस्तान के खिलाफ युद्ध में राष्ट्र की अगुवाई की। उनका नारा “जय जवान जय किसान” आज भी बहुत लोकप्रिय हैं।

1971—1980

वर्षपुरस्कार विजेताटिप्पणी
1971इंदिरा गाँधीसमाज सेवा,
1966 से 1977, और 1980 से 1984 तक भारत की प्रधान मंत्री रही है। 1971 के भारत-पाकिस्तान युद्ध में बांग्लादेश को मुक्त कराया।
1975वी॰ वी॰ गिरिसमाज सेवा,
एक विख्यात स्वतंत्रता सेनानी, भारत के पहले कार्यवाहक अध्यक्ष और 1969 में राष्ट्रपति के रूप में चुनाव।
1976के. कामराजसमाज सेवा,
एक स्वतंत्रता सेनानी, 1954-57, 1947-62 और 1962-63 से तमिलनाडु के मुख्यमंत्री।
1980मदर टेरेसासमाज सेवा,
अपने धर्मार्थ कार्यों के लिए उल्लेखनीय। 1979 में नोबेल शांति पुरस्कार मिला। पोप फ्रांसिस द्वार 4 सितंबर 2016 को उन्है संत घोषित किया।

1981—1990

वर्षपुरस्कार विजेताटिप्पणी
1983विनोबा भावेसमाज सेवा,
एक स्वतंत्रता सेनानी और सामाजिक सुधारक। भूदान आंदोलन के लिए प्रसिद्ध। 1958 में, उन्हें रमन मैगसेसे पुरस्कार से सम्मानित।
1987ख़ान अब्दुल ग़फ़्फ़ार ख़ानसमाज सेवा,
एक प्रमुख स्वतंत्रता सेनानी, 1929 में खुदाई ख़िदममगर की स्थापना की। महात्मा गांधी के कट्टर अनुयायी, सीमांत गांधी के नाम से प्रशिध्द।
1988एम जी रामचन्द्रनसमाज सेवा,
एक अभिनेता जो बाद में राजनीति में शामिल हुए। 1977-80, 1980-84 और 1985-87 के दौरान तमिलनाडु के मुख्यमंत्री रहे।
1990बी आर अम्बेडकरसमाज सेवा,
दलित नेता, सामाजिक भेदभाव के खिलाफ जोरदार अभियान। आजादी के बाद, भारतीय संविधान में अम्बेडकर का प्रारूपण। देश के पहले कानून मंत्री।
नेल्सन मंडेलासमाज सेवा,
दक्षिण अफ्रीका के विरोधी वर्णभेद आंदोलन में महत्वपूर्ण भूमिका। 1994 से 1999 तक दक्षिण अफ्रीका के राष्ट्रपति रहे। 1993 में नोबेल शांति पुरस्कार प्राप्त मंडेला को दक्षिण अफ्रीका के गांधी भी कहा जाता है।

1991—2000

वर्षपुरस्कार विजेताटिप्पणी
1991राजीव गाँधीसमाज सेवा
1984 से 1989 तक भारत के प्रधान मंत्री, भारत के सबसे कम उम्र के प्रधान मंत्री।
वल्लभ भाई पटेलसमाज सेवा
एक स्वतंत्रता सेनानी, भारतीय संघ में रियासतों को एकजुट करने में महत्वपूर्ण भूमिका। भारत के लौह पुरूष के रूप में जाने जाते है।
मोरारजी देसाईसमाज सेवा
1977 से 1979 के बीच भारत के प्रधान मंत्री, निशान-ए-पाकिस्तान, पाकिस्तान सरकार द्वारा प्रस्तुत उच्चतम नागरिक पुरस्कार प्राप्त एकमात्र भारतीय।
1992अबुल कलाम आजादसमाज सेवा
एक स्वतंत्रता सेनानी, और पहले शिक्षा मंत्री। इनके जन्मदिन 11 नवंबर, को भारत में राष्ट्रीय शिक्षा दिवस के रूप में मनाया जाता है।
जे आर डी टाटासमाज सेवा
जेआरडी टाटा उद्योगपति और परोपकारी थे। उन्होंने एयर इंडिया की स्थापना की, साथ ही टाटा इंस्टीट्यूट ऑफ सोशल साइंसेज, टाटा इंस्टीट्यूट ऑफ फंडामेंटल रिसर्च आदि की भी स्थापना की।
सत्यजित रायकला (सिनेमा)
सबसे महान फिल्म निर्माताओं में से एक, 1984 में दादा साहब फाल्के पुरस्कार प्राप्त।
1997गुलजारी लाल नंदासमाज सेवा
योजना आयोग के दो बार उपाध्यक्ष, 1964 और 1966 में भारत के अंतरिम प्रधान मंत्री के रूप में भी कार्य किया।
अरुणा आसफ अलीसमाज सेवा
भारत की स्वतंत्रता संग्राम में एक प्रमुख भूमिका निभाई, 1958 में दिल्ली का पहले महापौर बने।
ए पी जे अब्दुल कलामविज्ञान
एक प्रशंसित एयरोस्पेस और रक्षा वैज्ञानिक। इंटिग्रेटेड गाइडेड मिसाइल डेवलपमेंट प्रोग्राम के पीछे इनका हाथ था। 2002 से 2007 तक भारत के राष्ट्रपति थे।
1998एम एस सुब्बुलक्ष्मीकला
कर्नाटक शास्त्रीय गायिका। रॉन मैगसेसे पुरस्कार प्राप्त पहली भारतीय।
चिदम्बरम सुब्रमण्यमसमाज सेवा
1964 से 1966 के बीच भारत के कृषि मंत्री। हरित क्रांति के प्रति महत्वपूर्ण योगदान।
1999जयप्रकाश नारायणसमाज सेवा
लोक नायक के रूप में जाना जाता है, 1970 के दशक में इंदिरा गांधी सरकार के खिलाफ आंदोलन का नेर्तत्व।
अमर्त्य सेनविज्ञान(अर्थशास्त्र)
एक प्रसिद्ध अर्थशास्त्री, 1998 में आर्थिक विज्ञान में नोबेल मेमोरियल पुरस्कार प्राप्त।
गोपीनाथ बोरदोलोईसमाज सेवा
1946 से 1950 के बीच असम के मुख्यमंत्री, विभाजन के दौरान असम को भारत के साथ एकजुट रखने में प्रमुख भूमिका।
रवि शंकरकला
एक अंतरराष्ट्रीय स्तर पर प्रशंसित सितार वादक, उचार ग्रैमी पुरस्कार प्राप्त, जॉर्ज हैरिसन के कई धुनों में सहयोग।

2001—2020

वर्षपुरस्कार विजेताटिप्पणी
2001लता मंगेशकरकला,
उनकी मधुर आवाज के कारण, लता मंगेशकर को भारत की नाइटिंगेल कहा जाता है। उन्होंने 36 से अधिक भाषाओं में गाने का गौरव हासिल किया है। उन्होंने 1989 में दादा साहब फाल्के पुरस्कार जीता था।
बिस्मिल्लाह खानकला,
शहनाई वादक, बिस्मिल्लाह खान ने न केवल भारत में, बल्कि दुनिया भर में प्रसिद्धि हासिल की। उन्होंने शहनाई को लोकप्रिय बनाने में एक प्रमुख भूमिका निभाई।
2009भीमसेन जोशीकला,
भीमसेन जोशी कर्नाटक राज्य से एक प्रशंसित गायक थे। उन्होंने 1998 में संगीत नाटक अकादमी फैलोशिप प्राप्त किया।
2014सी एन आर रावविज्ञान,
एक प्रोफेसर और रसायनज्ञ, उन्होंने स्पेक्ट्रोस्कोपी, आणविक संरचना, ठोस राज्य, और सामग्री रसायन विज्ञान में काफी काम किया है।[2]
सचिन तेंदुलकरखेल,
दुनिया के सर्वश्रेष्ठ क्रिकेट खिलाड़ियों में से एक, सचिन तेंदुलकर ने 664 अंतरराष्ट्रीय मैच खेले हैं। दो दशक से अधिक के अपने करियर में, उन्होंने कई रिकॉर्ड बनाए हैं।
2015मदन मोहन मालवीयसमाज सेवा,
इन्होंने बनारस हिंदू विश्वविद्यालय की स्थापना की और भारतीय राष्ट्रीय कांग्रेस के अध्यक्ष के रूप में भी काम किया। 1924 से 1946 तक, वह हिंदुस्तान टाइम्स के अध्यक्ष भी रहें।
अटल बिहारी बाजपेयीसमाज सेवा,
वाजपेयी 1996, 1998 और 1999 से 2004 तक भारत के प्रधान मंत्री थे। 1977 से 1979 के बीच वह विदेश मंत्री थे। 1994 में, उन्हें सर्वश्रेष्ठ संसदीय पुरस्कार दिया गया था।[3]
2019प्रणब मुख़र्जीसमाज सेवा,मुखर्जी एक भारतीय राजनेता हैं, जिन्होंने 2012 से 2017 तक भारत के 13 वें राष्ट्रपति के रूप में कार्य किया। पाँच दशकों के राजनीतिक जीवन में, मुखर्जी भारतीय राष्ट्रीय कांग्रेस में एक वरिष्ठ नेता रहे हैं और उन्होंने भारत सरकार में कई मंत्रिस्तरीय विभागों पर कार्य किया है। राष्ट्रपति चुने जाने से पहले, वह 2009 से 2012 तक केंद्रीय वित्त मंत्री थे।[4]
भूपेन हजारिकाकला,हजारिका (8 सितंबर 1926 – 5 नवंबर 2011) असम के एक भारतीय पार्श्व गायक, गीतकार, संगीतकार, कवि और फिल्म-निर्माता थे, उनके गीत मुख्य रूप से असमिया और कई भाषाओं में लिखे और गाए गए।[4]
नानाजी देशमुखसंघ प्रचारक, समाज सेवा,चंडिकादास अमृतराव देशमुख को नानाजी देशमुख के नाम से भी जाना जाता है (11 अक्टूबर 1916 – 27 फरवरी 2010) भारत के एक सामाजिक कार्यकर्ता थे। उन्होंने शिक्षा, स्वास्थ्य और ग्रामीण आत्मनिर्भरता के क्षेत्र में काम किया। वे भारतीय जनसंघ के नेता थे और राज्य सभा के सदस्य भी थे।[4]

श्रेणियाँ

Leave a Reply

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *