भारत रत्‍न

भारत रत्न
सम्मान की जानकारी
प्रकारनागरिक
श्रेणीसम्मान
स्थापना वर्ष1954
अंतिम अलंकरण2019
कुल अलंकरण48
अलंकरणकर्ताभारत सरकार
विवरणएक पीपल के पत्ते पर सूर्य की प्लैटिनम छवि
के संग देवनागरी लिपि में खुदा हुआ भारत रत्न
प्रथम अलंकृतसर्वपल्ली राधाकृष्णन
अंतिम अलंकृतनानाजी देशमुख(मरणोपरांत)
भूपेन हजारिका (मरणोपरांत)
प्रणव मुखर्जी
सम्मान श्रेणी
कोई नहीं ← भारत रत्न → पद्म विभूषण

भारत रत्न भारत का सर्वोच्च नागरिक सम्मान है।[1][2][3] यह सम्मान राष्ट्रीय सेवा के लिए दिया जाता है। इन सेवाओं में कला, साहित्य, विज्ञान, सार्वजनिक सेवा और खेल शामिल है। इस सम्मान की स्थापना 2 जनवरी 1954 में भारत के तत्कालीन राष्ट्रपति श्री राजेंद्र प्रसाद द्वारा की गई थी। अन्य अलंकरणों के समान इस सम्मान को भी नाम के साथ पदवी के रूप में प्रयुक्त नहीं किया जा सकता।[4] [5] प्रारम्भ में इस सम्मान को मरणोपरांत देने का प्रावधान नहीं था, यह प्रावधान 1955 में बाद में जोड़ा गया। तत्पश्चात् 14 व्यक्तियों को यह सम्मान मरणोपरांत प्रदान किया गया। सुभाष चन्द्र बोस को घोषित सम्मान वापस लिए जाने के उपरान्त मरणोपरान्त सम्मान पाने वालों की संख्या 12 मानी जा सकती है। एक वर्ष में अधिकतम तीन व्यक्तियों को ही भारत रत्न दिया जा सकता है।[6]

उल्लेखनीय योगदान के लिए भारत सरकार द्वारा दिए जाने वाले सम्मानों में भारत रत्न के पश्चात् क्रमशः पद्म विभूषणपद्म भूषण और पद्मश्री हैं।

श्री सचिन तेंदुलकर जी एकमात्र ऐसे खिलाड़ी हैं जिन को भारत रत्न प्राप्त हुआ है और वह भारत रत्न प्राप्त करने वाले सबसे कम उम्र के व्यक्ति भी हैं इसके पश्चात भारत रत्न श्री अटल बिहारी वाजपेई जी को भी प्राप्त हुआ है यह उनको भारत को समर्पित अत्यंत प्रभावशाली राजनीतिक जीवन के लिए दिया गया है

पदक

मुख्य लेख: भारत रत्न पुरस्कार विजेताओं की सूची

मूल रूप में इस सम्मान के पदक का डिजाइन ३५ मिमि गोलाकार स्वर्ण मैडल था। जिसमें सामने सूर्य बना था, ऊपर हिन्दी में भारत रत्न लिखा था और नीचे पुष्प हार था। और पीछे की तरफ़ राष्ट्रीय चिह्न और मोटो था। फिर इस पदक के डिज़ाइन को बदल कर तांबे के बने पीपल के पत्ते पर प्लेटिनम का चमकता सूर्य बना दिया गया। जिसके नीचे चाँदी में लिखा रहता है “भारत रत्न” और यह सफ़ेद फीते के साथ गले में पहना जाता है।

भारत रत्न से सम्मानित होने वाली पहली गायिका श्रीमती एम। एस। सुब्बुलक्ष्मी हैं जिसको सन् 1998 में दिया गया। आमतौर पर भारत में जन्मे नागरिकों को ही भारत रत्न से सम्मानित किया जाता है, लेकिन मदर टेरेसा और दो गैर-भारतीयों, पाकिस्तान के राष्ट्रीय खान अब्दुल गफ्फार खान और दक्षिण अफ्रीका के पूर्व राष्ट्रपति नेल्सन मंडेला को प्रदान किया गया है। 25 जनवरी 2019 को, सरकार ने सामाजिक कार्यकर्ता नानाजी देशमुख (मरणोपरांत), गायक-संगीत निर्देशक भूपेन हजारिका (मरणोपरांत) और भारत के पूर्व राष्ट्रपति प्रणब मुखर्जी को पुरस्कार देने की घोषणा की।भारत रत्न पदक

क्रमवर्षनामजीवन
१.१९५४ –डॉक्टर सर्वपल्ली राधाकृष्णन(५ सितंबर१८८८ – १७ अप्रैल१९७५)
२.१९५४ –चक्रवर्ती राजगोपालाचारी(१० दिसम्बर१८७८ – २५ दिसम्बर१९७२)
३.१९५४ –डॉक्टर चन्‍द्रशेखर वेंकटरमण(७ नवंबर१८८८ – २१ नवंबर१९७०)
४.१९५५ –डॉक्टर भगवान दास(१२ जनवरी१८६९ – १८ सितंबर१९५८)
५.१९५५ –सर डॉ॰ मोक्षगुंडम विश्वेश्वरय्या(१५ सितंबर१८६० – १२ अप्रैल१९६२)
६.१९५५ –पं. जवाहर लाल नेहरु(१४ नवंबर१८८९ – २७ मई१९६४)
७.१९५७ –गोविंद वल्लभ पंत(१० सितंबर१८८७ – ७ मार्च१९६१)
८.१९५८ –डॉ॰ धोंडो केशव कर्वे(१८ अप्रैल१८५८ – ९ नवंबर१९६२)
९.१९६१ –डॉ॰ बिधन चंद्र रॉय(१ जुलाई१८८२ – १ जुलाई१९६२)
१०.१९६१ –पुरूषोत्तम दास टंडन(१ अगस्त१८८२ – १ जुलाई१९६२)
११.१९६२ –डॉ॰ राजेंद्र प्रसाद(३ दिसम्बर१८८४ – २८ फरवरी१९६३)
१२.१९६३ –डॉ॰ जाकिर हुसैन(८ फरवरी१८९७ – ३ मई१९६९)
१३.१९६३ –डॉ॰ पांडुरंग वामन काणे(१८८०-१९७२)
१४.१९६६ –लाल बहादुर शास्त्री(२ अक्टूबर१९०४ – ११ जनवरी१९६६), मरणोपरान्त
१५.१९७१ –इंदिरा गाँधी(१९ नवंबर१९१७ – ३१ अक्टूबर१९८४)
१६.१९७५ –वराहगिरी वेंकट गिरी(१० अगस्त१८९४ – २३ जून१९८०)
१७.१९७६ –के. कामराज(१५ जुलाई१९०३ – १९७५), मरणोपरान्त
१८.१९८० –मदर टेरेसा(२७ अगस्त१९१० – ५ सितंबर१९९७)
१९.१९८३ –आचार्य विनोबा भावे(११ सितंबर१८९५ – १५ नवंबर१९८२), मरणोपरान्त
२०.१९८७ –खान अब्दुल गफ्फार खान(१८९० – २० जनवरी१९८८), पहले गैर-भारतीय
२१.१९८८ –एम जी आर(१७ जनवरी१९१७ – २४ दिसम्बर१९८७), मरणोपरान्त
२२.१९९० –बाबा साहेब डॉ॰ भीमराव रामजी आंबेडकर(१४ अप्रैल१८९१ – ६ दिसम्बर१९५६), मरणोपरान्त
२३.१९९० –नेल्सन मंडेला(१८ जुलाई१९१८ – ५ दिसम्बर२०१३), दूसरे गैर-भारतीय
२४.१९९१ –राजीव गांधी(२० अगस्त१९४४ – २१ मई१९९१), मरणोपरान्त
२५.१९९१ –सरदार वल्लभ भाई पटेल(३१ अक्टूबर१८७५ – १५ दिसम्बर१९५०), मरणोपरान्त
२६.१९९१ –मोरारजी देसाई(२९ फरवरी१८९६ – १० अप्रैल१९९५)
२७.१९९२ –मौलाना अबुल कलाम आज़ाद(११ नवंबर१८८८ – २२ फरवरी१९५८), मरणोपरान्त
२८.१९९२ –जे आर डी टाटा(२९ जुलाई१९०४ – २९ नवंबर१९९३)
२९.१९९२ –सत्यजीत रे(२ मई१९२१ – २३ अप्रैल१९९२)
३०.१९९७ –अब्दुल कलाम(१५ अक्टूबर१९३१-२७ जुलाई२०१५)
३१.१९९७ –गुलजारी लाल नंदा(४ जुलाई१८९८ – १५ जनवरी१९९८)
३२.१९९७ –अरुणा असाफ़ अली(१६ जुलाई१९०९ – २९ जुलाई१९९६), मरणोपरान्त
३३.१९९८ –एम एस सुब्बुलक्ष्मी(१६ सितंबर१९१६ – ११ दिसम्बर२००४)
३४.१९९८ –सी सुब्रामनीयम(३० जनवरी१९१० – ७ नवंबर२०००)
३५.१९९८ –जयप्रकाश नारायण(११ अक्टूबर१९०२ – ८ अक्टूबर१९७९), मरणोपरान्त
३६.१९९९ –पं. रवि शंकर(७ अप्रैल१९२०-१२ दिसम्बर२०१२ )
३७.१९९९ –अमृत्य सेन(३ नवंबर१९३३)
३८.१९९९ –गोपीनाथ बोरदोलोई(१८९०-१९५०), मरणोपरान्त
३९.२००१ –लता मंगेशकर(२८ सितंबर१९२९)
४०.२००१ –उस्ताद बिस्मिल्ला ख़ां(२१ मार्च१९१६ – २१ अगस्त२००६)
४१.२००८ –पं.भीमसेन जोशी(४ फरवरी१९२२ –२५ जनवरी२०११)
४२.२०१४सी॰ एन॰ आर॰ राव(३० जून१९३४- अब तक), १६ नवंबर, २०१४ को घोषित
४३.२०१४सचिन तेंदुलकर(२४ अप्रैल१९७३- अब तक), १६ नवंबर, २०१४ को घोषित
४४.२०१५अटल बिहारी वाजपेयी(२५ दिसंबर१९२४- १६ अगस्त २०१८), २४ दिसम्बर २०१४ को घोषित
४५.२०१५महामना मदन मोहन मालवीय(२५ दिसंबर१८६१- १२ नवंबर१९४६), मरणोपरान्त, २४ दिसम्बर २०१४ को घोषित
४६.२०१९प्रणब मुखर्जी(११ दिसम्बर १९३५ -31 August 2020)
४७.२०१९भूपेन हजारिका(८ सितम्बर १९२६ – ५ नवम्बर २०११) , मरणोपरान्त
४८.२०१९नानाजी देशमुख(११ अक्टूबर १९१६ – २७ फ़रवरी २०१०) , मरणोपरान्त

1992 में नेताजी सुभाषचन्द्र बोस को भारत रत्न से मरणोपरान्त सम्मानित किया गया था। लेकिन उनकी मृत्यु विवादित होने के कारण पुरस्कार के मरणोपरान्त स्वरूप को लेकर प्रश्न उठाया गया था। इसीलिए भारत सरकार ने यह सम्मान वापस ले लिया। उक्त सम्मान वापस लिये जाने का यह एकमेव उदाहरण है।

भारत के प्रथम शिक्षा मंत्री श्री मौलाना अबुल कलाम आज़ाद को जब भारत रत्न देने की बात आयी तो उन्होंने जोर देकर मना कर दिया, कारण कि जो लोग इसकी चयन समिति में रहे हों, उनको यह सम्मान नहीं दिया जाना चाहिये। बाद में १९92 में उन्हें मरणोपरांत दिया गया।[7]

सन्दर्भ

  1.  पायली, मूलमट्टोम वार्के (१९७१). द कॉन्स्टीट्यूशन ऑफ इण्डिया. नई दिल्ली: एस चांद एण्ड कंपनी लि. पपृ॰ ११४. आई॰ऍस॰बी॰ऍन॰ 81-219-2203-8.
  2.  महाजन, विद्दाधर (१९७१). द कॉन्स्टीट्यूशन ऑफ इण्डियालखनऊउत्तर प्रदेश: ईस्टर्न बुक कंपनी. पृ॰ 169.
  3.  होएबर्ग, डेल; इन्दु रामचन्दानी (२०००). स्टूडेन्ट्स ब्रिटैनिका इण्डियानई दिल्ली: ब्रिटैनिका विश्वकोश (भारत). भाग.३, पृ.१९८. आई॰ऍस॰बी॰ऍन॰ 0-85229-760-2.
  4.  बसु, दुर्गा दास (1988). Shorter Constitution of India. नई दिल्ली: प्रेन्टिस हॉल ऑफ़ इंडिया.
  5.  बसु, दुर्गा दास (1993). Introduction to the Constitution of India. नई दिल्ली: प्रेन्टिस हॉल ऑफ़ इंडिया.
  6.  “भारत रत्‍न सम्‍मान”. भारत सरकार. मूल से 23 जुलाई 2016 को पुरालेखित. अभिगमन तिथि 11 जून 2016.
  7.  वे जिन्होंने भारत रत्न लेने से मना कर दिया Archived 29 मार्च 2016 at the वेबैक मशीनद टाइम्स ऑफ इंडिया२० जनवरी२००८

बाहरी कड़ियाँ

[छुपाएँ]देवासंभारत रत्न सम्मानित
सर्वपल्ली राधाकृष्णन (१९५४)चक्रवर्ती राजगोपालाचारी (१९५४)चन्द्रशेखर वेङ्कट रामन् (१९५४)भगवान दास (१९५५)मोक्षगुंडम विश्वेश्वरय्या (१९५५)जवाहरलाल नेहरू (१९५५)गोविन्द बल्लभ पन्त (१९५७)धोंडो केशव कर्वे (१९५८)बिधान चंद्र राय (१९६१)पुरुषोत्तम दास टंडन (१९६१)राजेन्द्र प्रसाद (१९६२)ज़ाकिर हुसैन (१९६३)पांडुरंग वामन काणे (१९६३)लालबहादुर शास्त्री (१९६६)इन्दिरा गांधी (१९७१)वी॰ वी॰ गिरि (१९७५)के. कामराज (१९७६)मदर टेरेसा (१९८०)विनोबा भावे (१९८३)ख़ान अब्दुल ग़फ़्फ़ार ख़ान (१९८७)मारुदुर गोपालन रामचन्द्रन (१९८८)भीमराव अम्बेडकर (१९९०)नेल्सन मंडेला (१९९०)राजीव गांधी (१९९१)वल्लभ भाई पटेल (१९९१)मोरारजी देसाई (१९९१)मौलाना अबुल कलाम आज़ाद (१९९२)जहांगीर रतनजी दादाभाई टाटा (१९९२)सत्यजित राय (१९९२)अब्दुल कलाम (१९९७)गुलज़ारीलाल नन्दा (१९९७)अरुणा असाफ़ अली १९९७एम॰ एस॰ सुब्बुलक्ष्मी (१९९८)चिदम्बरम् सुब्रह्मण्यम् १९९८)जयप्रकाश नारायण (१९९८)रवि शंकर (१९९९)अमर्त्य सेन (१९९९)गोपीनाथ बोरदोलोई (१९९९)लता मंगेशकर (२००१)उस्ताद बिस्मिल्ला ख़ाँ (२००१)भीमसेन जोशी (२००८)सचिन तेंदुलकर (२०१३)सी॰ एन॰ आर॰ राव (२०१३)अटल बिहारी वाजपेयी (२०१४)मदन मोहन मालवीय (२०१४)
[छुपाएँ]देवासं     भारतीय सम्मान और पदक
नागरिकअंतर्राष्ट्रीयगांधी शांति पुरस्कार  · इंदिरा गांधी शांति पुरस्कारराष्ट्रीयभारत रत्न · पद्म पुरस्कार-(पद्म विभूषण · पद्म भूषण · पद्म श्री· राष्‍ट्रीय वीरता पुरस्‍कार · राष्ट्रीय बाल पुरस्कार (उत्कृष्ट उपलब्धियों के लिये) · राष्ट्रीय बाल श्री सम्मानकेंद्रीयमहापंडित राहुल सांकृत्यायन पुरस्कार  · गंगाशरण सिंह पुरस्कार · गणेश विद्यार्थी पुरस्कार · आत्माराम पुरस्कार · सुब्रह्मण्यम भारती पुरस्कार · डॉ. जॉर्ज ग्रियर्सन पुरस्कार · पद्मभूषण डॉ॰ मोटूरि सत्यनारायण पुरस्कारविभिन्न
श्रेणियों
मेंसाहित्यज्ञानपीठ पुरस्कार · साहित्य अकादमी फ़ैलोशिप  · साहित्य अकादमी पुरस्कारचलचित्रदादासाहेब फाल्के पुरस्कार · राष्ट्रीय फ़िल्म पुरस्कारअन्य कलाएँसंगीत नाटक अकादमी फेलोशिप · संगीत नाटक अकादमी पुरस्कार · ललित कला अकादमी के सभासदों की सूचीखेलराजीव गांधी खेल रत्न · अर्जुन पुरस्कार · द्रोणाचार्य पुरस्कार (प्रशिक्षण) · ध्यानचंद पुरस्कार (आजीवन उपलब्धियों के लिये)विज्ञान और प्रौद्योगिकीशांति स्वरूप भटनागर विज्ञान एवं प्रौद्योगिकी पुरस्कारचिकित्साडॉ बी सी राय पुरस्कार
सेनायुद्धकाल  परम वीर चक्र  महावीर चक्र  वीर चक्रशांतिकाल  अशोक चक्र  कीर्ति चक्र  शौर्य चक्रविभूषित
सेवा एवं शौर्य  सेना पदक थल सेना  नौ सेना पदक नौसेना  वायु सेना पदक वायु सेनायुद्ध काल  सर्वोत्तम युद्ध सेवा पदक  उत्तम युद्ध सेवा पदक  युद्ध सेवा पदकशांतिकाल  परम विशिष्ट सेवा पदक  अति विशिष्ट सेवा पदक  विशिष्ट सेवा पदकसेवा एवं
अभियान पदक  घाव पदक  सामान्य सेवा पदक १९४७  सामान्य सेवा पदक  विशेष सेवा पदक  समर सेवा स्टार  पूर्वी स्टार  पश्चिमी स्टार  ऑपरेशन विजय स्टार  सियाचिन ग्लेशियर पदक  रक्षा पदक  संग्राम पदक  ऑपरेशन विजय पदक  ऑपरेशन पराक्रम पदक  सैन्य सेवा पदक  हाई ऑल्टीट्यूड सेवा पदक  विदेश सेवा पदकलम्बी सेवा सम्मान  मेरिटोरियस सेवा पदक  लम्बी सेवा एवं अच्छा आचरण पदक  ३० वर्ष लम्बी सेवा पदक  २० वर्ष लम्बी सेवा पदक  ९ वर्ष लम्बी सेवा पदक  टेरिटोरियल सेना सम्मान  टेरिटोरियल सेना पदकस्वतंत्रता सम्मान  भारतीय स्वतंत्रता पदक  ५०वीं स्वतंत्रता वर्षगांठ पदक  २५वीं स्वतंत्रता वर्षगांठ पदकअन्य सम्मानMention in DispatchesCommendation Card

श्रेणियाँ

Leave a Reply

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *