मुखाभिगम

मुखाभिगम (अंग्रेजी: Oral Sex) भी मैथुन का एक तरीका है जिसे प्राय: सम्भोग से पूर्व योनांगों को मुख, जीभ, होंठ के प्रयोग से उत्तेजित किया जाता है। इसे आम बोलचाल की भाषा में मुख मैथुन कहते हैं। यह सामान्यत: स्त्री की योनि में पुरुष लिंग के प्रवेश करने से पूर्व तक ही सीमित रहती है। स्त्री-पुरुष दोनों के पूर्णतया उत्तेजित हो जाने के बाद तो सारा काम लिंग ही करता है।

आजकल समलैंगिकता के कारण इस प्रकार का मैथुन प्रचलित है। कामसूत्र के प्रणेता वात्स्यायन ने इस प्रकार के मैथुन को प्रकारान्तर से कुकृत्य कहा है और हेय (वर्जित) बताया है।

बाहरी कड़ियाँ

[छुपाएँ]देवासंमानव कामुकता का रूपरेखा
मैथुनमैथुन · इरुमेशियो · फेलाशियो · हस्तमैथुन · गुदा मैथुन · मुख मैथुन
यौन अभिविन्यासबाल यौन शोषण · बुक्काके · गोकुन · गोबर  · सामूहिक यौन-क्रिया · बुत
धर्मइस्लाम

श्रेणियाँ

Leave a Reply

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *