कांच मेंढक

कांच मेंढक
वैज्ञानिक वर्गीकरण
जगत:Animalia
संघ:Chordata
वर्ग:एम्फिबिया
गण:रंजीब
उपगण:Neobatrachia
कुल:Centrolenidae
Taylor, 1951
Subfamilies
Hyalinobatrachinae
Centroleninae
Allophryninae
Distribution of Centrolenidae (in black)

कांच मेंढक (या पारदर्शी मेंढक) सेंट्रोलाइनिडे परिवार का उभयचर प्राणी है। ज्यादातर कांच के मेंढक का सामान्य रंग हल्का हरा होता है तथा इस परिवार के कुछ सदस्यों की पेट की त्वचा पारदर्शी पायी जाती है। दिल, यकृत, और जठरांत्र संबंधी मार्ग सहित आंतरिक आंत, त्वचा के माध्यम से दिखाई देते हैं, इसलिए इसे कांच का मेंढक कहा जाता है।

वर्गीकरण

1872 में मध्यवर्ती इक्वाडोर में इकट्ठा किए गए नमूने के आधार पर, सेंट्रॉलीन की पहली वर्णित प्रजाति “विशाल” ग्क्कोओइडियम थी। इसका नामांकरण मार्कोस जिमेनेज डे ला एस्पाडा के नाम पर हुआ है। 1950 और 1970 के दशक के बीच, मध्य अमेरिका कांच मेंढकों की अधिकांश प्रजातियां के लिए जाने जाता था, विशेष रूप से पनामा और कोस्टा रिका. जहां टेलर और जय एम सावेज ने काफी काम किया, थोड़ी बहुत प्रजातियाँ दक्षिण अमेरिका में भी पाई गई।

लक्षण

ग्लास मेंढक आम तौर पर छोटे और 3 से 7.5 सेमी के होते हैं. उनके शरीर के अधिकांश हिस्से हरे रंग के होते, जो शरीर के निचली पारदर्शी सतह को बचाने के काम आता है। अधिकतर ग्लास मेंढ़क वृक्षवासी हैं। वे प्रजनन काल के दौरान नदियों और झरनों के पास रहते हैं। सामान्यतः अंडे बहते पानी पर लटकी डालियों या पेड़ के पत्तों पर देते है. कुछ प्रजातियाँ, झरने या नदी के पास के पत्थर पर अंडे देती है. पत्ते पर अंडे बिछाने की विधि अलग अलग प्रजातियों की अलग होती है।

बाहरी कड़ियाँ

श्रेणियाँ

Leave a Reply

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *