नन्दा देवी राष्ट्रीय उद्यान

नन्दा देवी राष्ट्रीय उद्यान
आईयूसीएन श्रेणी प्रथम-अ (Ia) (कड़ा प्राकृतिक संरक्षण)
नन्दा देवी राष्ट्रीय उद्यान की अवस्थिति दिखाता मानचित्र
अवस्थितिउत्तराखण्डभारत
क्षेत्रफल630.33 वर्ग कि॰मी॰
स्थापित1982
नन्दा देवी और फूलों की घाटी राष्ट्रीय उद्यान
विश्व धरोहर सूची में अंकित नाम
देशभारत
प्रकारप्राकृतिक
मानदंडvii, x
सन्दर्भयुनेस्को 335
युनेस्को क्षेत्रएशिया-पॅसिफ़िक
शिलालेखित इतिहास
शिलालेख1988 (12वीं सत्र)
विस्तार2005

नन्दा देवी राष्ट्रीय उद्यान अर्थात् नन्दादेवी राष्ट्रीय अभयारण्य एक विश्व धरोहर का नाम है। यह भारत के उत्तराखण्ड राज्य में नन्दा देवी पर्वत के आस-पास का इलाका है, जिसे नन्दादेवी राष्ट्रीय अभयारण्य के नाम से भी जाना जाता है।

भौगोलिक परिपेक्ष

नन्दादेवी राष्ट्रीय अभयारण्य लगभग 630.33 वर्ग किलोमीटर तक फैला हुआ उत्तर-भारत का विशालतम अभयारण्य है। जिसे सन् 1982 में राष्ट्रीय उद्यान घोषित किया गया था तथा फूलों की घाटी राष्ट्रीय उद्यान सहित सन् 1988 में विश्व संगठन युनेस्को द्वारा विश्व धरोहर के रूप में घोषित किया जा चुका है।[1]
यह नन्दा देवी राष्ट्रीय उद्यान ६३०.३३ वर्ग कि॰मी॰ के क्षेत्र में फैला हुआ है और फूलों की घाटी राष्ट्रीय उद्यान के साथ मिलकर नन्दा देवी बायोस्फ़ियर रिज़र्व बनता है जिसका कुल क्षेत्रफल २२३६.७४ वर्ग कि॰मी॰ है और इसके चारों ओर ५१४८.५७ वर्ग कि॰मी॰ का मध्यवर्ती क्षेत्र (buffer zone) है।[2][3] यह रिज़र्व युनेस्को की विश्व के बायोस्फ़ेयर रिज़र्व की सूची में सन् 2004 से अंकित किया जा चुका है।

अभयारण्य का विस्तार

उद्यान का समोच्च रेखाओं (contours) वाला मानचित्र

इस अभयारण्य को दो भागों में बांटा जा सकता है: भीतरी और बाहरी। दोनों को उत्तर, पूर्व और दक्षिण की तरफ़ से दीवारनुमा ऊँची-ऊँची चोटियाँ घेरे हुये हैं और पश्चिम की तरफ़ उत्तर और दक्षिण की पर्वतश्रेणियाँ ऋषिगंगा दर्रे में जाकर मिल जाती हैं।[4]
भीतरी अभयारण्य लगभग पूरे क्षेत्रफल के दो तिहाई हिस्से में फैला हुआ है और इसी इलाके में नंदा देवी पर्वत के साथ-साथ उत्तरी और दक्षिणी ऋषि हिमनद भी हैं जो नंदा देवी चोटी के दोनों ओर स्थित हैं।[4] इन दोनों हिमनदों के सहायक हिमनद क्रमशः उत्तरी और दक्षिणी नंदा देवी हिमनद हैं। ऍरिक शिप्टन और बिल टिल्मैन सन् 1934 में भीतरी अभयारण्य में ऋषि दर्रे के रास्ते पहुँचने वाले पहले मनुष्य माने जाते हैं।[5]
बाहरी अभयारण्य पश्चिम में कुल क्ष्रेत्रफल का एक तिहाई हिस्सा लेता है और भीतरी अभयारण्य से ऊँची पर्वतश्रेणियों से अलग होता है। इसमें ऋषिगंगा बहती है जो इसे दो भागों में बाँटती है। इसके उत्तरी भाग में रमनी हिमनद है जो दूनागिरी और चांगाबांग चोटियों की ढलानों से नीचे बहता है। इसके दक्षिणी भाग में त्रिशूल हिमनद है जो त्रिशूल पर्वत से नीचे बहता है। बाहरी अभयारण्य में पहली बार कदम सन् १९०७ में लाँगस्टाफ़ ने रखे थे जब उन्होंने त्रिशूल I पर्वतारोहण किया था।[5]

अभयारण्य के अन्तर्गत पर्वत-शिखर

नन्दा देवी पर्वत शिखर का एक दृश्य

  • नंदा देवी: 7816 मीटर
  • देवीस्थान एक: 6678 मीटर
  • देवीस्थान दो: 6529 मीटर
  • ऋषि कोट: 6236 मीटर
  • हनुमान: ६०७५ मीटर
  • दूनागिरी: ७०६६ मीटर
  • चांगाबांग: ६८६४ मीटर
  • कलंक: ६९३१ मीटर
  • ऋषि पहर: ६९९२ मीटर
  • मंगराओं: ६५६८ मीटर
  • देव दमला: ६६२० मीटर
  • बमचु: ६३०३ मीटर
  • सकरम: ६२५४ मीटर
  • लाटु धुरा: ६३९२ मीटर
  • सुनंदा देवी: ७४३४ मीटर
  • नंदा खाट: ६६११ मीटर
  • पनवाली द्वार: ६६६३ मीटर
  • मैकटोली: ६८०३ मीटर
  • देवटोली: ६७८८ मीटर
  • मृगथुनी: ६८५५ मीटर
  • त्रिशूली एक: 7120 मीटर
  • त्रिशूली दो: 6690 मीटर
  • त्रिशूली तीन: 6008 मीटर
  • बेथरटोली हिमल: 6352 मीटर

अभयारण्य की परिधि के पर्वत-शिखर

  • हरदेओल: ७१५१ मीटर (पूर्वोत्तर किनारे में)
  • त्रिशूली: ७०७४ मीटर (हरदेओल के ज़रा आगे)
  • नंदा कोट: ६८६१ मीटर (दक्षिण-पूर्व किनारे में)
  • नंदा घुण्टी: ६३०९ मीटर (दक्षिण-पश्चिम किनारे में)

वन्य जीव : नंदा देवी जैव मंडल मे लगभग 130 प्रजाति पंछियो की पायी जाती है।40 प्रकार के तितलिया और लगभग इतने ही प्रकार के मकड़िया पायी जाती है । जनतुओ मे हिमालयी भालू, हिमालयी ताहर,भारल,कस्तूरी मृग, लंगूर, गोरल,तेंदुए, लाल लोमड़ी आदि यहा संरक्षित है ।

थलचर

जलचर

नभच

चित्र वीथिका

बाहरी कड़ियाँ

[छुपाएँ]देवासंभारत के विश्व धरोहर स्थल
उत्तर भारतआगरा का किला  · चंडीगढ़ कैपिटल कॉम्प्लैक्स  · फ़तेहपुर सीकरी  · हुमायूँ का मकबरा  · खजुराहो स्मारक समूह  · केवलादेव राष्ट्रीय उद्यान  · क़ुतुब मीनार  · लाल क़िला  · ताजमहल  · ग्रेट हिमालयन राष्ट्रीय उद्यान  · कालका शिमला रेलवे  · नण्दा देवी राष्ट्रीय उद्यान एवं फूलों की घाटी  ·
पूर्व भारतकाज़ीरंगा राष्ट्रीय उद्यान  · महाबोधि विहार  · मानस राष्ट्रीय उद्यान  · दार्जिलिंग हिमालयी रेल  · कोणार्क सूर्य मंदिर  · सुंदरवन राष्ट्रीय उद्यान  · नालन्दा महाविहार  · कंचनजंगा राष्ट्रीय उद्यान  ·
दक्षिण भारतमहान चोल मंदिर  · हम्पी  · महाबलिपुरम के तट मन्दिर  · पत्तदकल  · पश्चिमी घाट  · नीलगिरि पर्वतीय रेल  ·
पश्चिम भारतअजंता गुफाएँ  · छत्रपति शिवाजी टर्मिनस  · गोआ के गिरजाघर एवं कॉन्वेंट  · एलीफेंटा गुफाएं  · एलोरा गुफाएं  · साँची का स्तूप  · चंपानेर-पावागढ़ पुरातत्व उद्यान  · भीमबेटका शैलाश्रय  · राजस्थान के पहाड़ी दुर्ग  · रानी की वाव  · पश्चिमी घाट  · अहमदाबाद का ऐतिहासिक शहर  · जन्तर मन्तर (जयपुर)  · मुंबई का विक्टोरियन और आर्ट डेको एनसेंबल  ·
[छुपाएँ]देवासं भारत के राष्ट्रीय उद्यान
उत्तर भारतजम्मू कश्मीरदाचीगाम  • हेमिस • किश्तवार • सलीम अलीहिमाचल प्रदेशग्रेट हिमालयन राष्ट्रीय उद्यान • पिन घाटीउत्तराखंडकार्बेट • गंगोत्री • गोविंद • नंदा देवी • राजाजी • फूलों की घाटीहरियाणाकलेसर • सुल्तानपुरउत्तर प्रदेशनवाबगंज • दुधवाराजस्थानदर्राह • मरुभूमि • केवलादेव • रणथंबोर • सरिस्का • माउंट आबू
दक्षिण भारतआंध्र प्रदेशकासु ब्रह्मानन्द रेड्डी • महावीर हरिण वनस्थली • मृगवनी • श्री वेंकटेश्वरकर्नाटकअंशी • बांदीपुर • बनेरघाट • कुदरेमुख • नागरहोलतमिलनाडुगुइंडी • मन्नार की खाड़ी • इंदिरा गांधी • पलानी पर्वत • मुदुमलाइ • मुकुर्थीकेरलएराविकुलम • मथिकेत्तन शोला • पेरियार • साइलेंट वैली
पूर्वी भारतबिहारवाल्मीकिझारखंडबेतला • हज़ारीबागपश्चिम बंगालबुक्सा • गोरुमारा • न्योरा घाटी • सिंगालीला • सुंदरवन • जलदापाड़ाउड़ीसाभीतरकनिका • सिमलीपाल
पश्चिम भारतगुजरातकृष्ण मृग • गिर • कच्छ की खाड़ी • वंस्दामहाराष्ट्रचांदोली • गुगामल • नवेगाँव • संजय गांधी • ताडोबागोआमोल्लेम
मध्य भारतमध्य प्रदेशबांधवगढ • जीवाश्म • कान्हा • कूनो • माधव • पन्ना • पेंच • संजय • सतपुरा • वन विहार • डायनासोरछत्तीसगढइंद्रावती • कांगेर घाटी
पूर्वोत्तर भारतअरुणाचल प्रदेशमोलिंग • नमदाफासिक्किमकंचनजंगाअसमदिबरू-साइखोवा • काज़ीरंगा • मानस • नमेरी • ओरांगनागालैंडन्टङ्कीमेघालयबलफकरम • नोकरेक  • नोंगखाइलेममणिपुरकेयबुल लामजाओ • सिरोईमिजोरममुर्लेन • फौंगपुइ
द्वीपअंडमान एवं निकोबारकैम्पबॅल बे • गैलेथिआ • महात्मा गांधी • माउन्ट हैरियट • मिडल बटन द्वीप • नौर्थ बटन द्वीप • रानी झांसी • सैडल पीक • साउथ बटन द्वीप
राष्ट्रीय उद्यान • भारत के अभयारण्य • वन एवं पर्यावरण मंत्रालय (भारत)

श्रेणियाँ

Leave a Reply

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *