किशनगंगा नदी

किशनगंगा नदी / नीलम नदी
नदी
गुरेज़ में हब्बा ख़ातून पहाड़ के पास किशनगंगा नदी
क्षेत्रकश्मीर
उपनदियाँ
 – बाएँसिन्द नदीलिद्दर नदी
स्रोत34.389629°N 75.121806°Eनिर्देशांक34.389629°N 75.121806°E
 – स्थानसोनमर्ग के पास कृश्नसर झील, भारत
 – ऊँचाई3,710 मी. (12,172 फीट)
मुहाना34.354869°N 73.468537°E
 – स्थानमुज़्ज़फ़राबाद के पास झेलम नदीपाकिस्तान
 – ऊँचाई750 मी. (2,461 फीट)
लंबाई245 कि.मी. (152 मील)
प्रवाह
 – औसत465 मी.³/से. (16,421 घन फीट/से.)

किशनगंगा नदी कश्मीर क्षेत्र की एक नदी है। इसका नाम पाकिस्तान में बदलकर नीलम नदी कर दिया गया है।

मार्ग

किशनगंगा नदी जम्मू व कश्मीर राज्य के सोनमर्ग शहर के पास स्थित किशनसर झील (कृष्णसर झील) से शुरू होती है और उत्तर को चलती है जहाँ बदोआब गाँव के पास द्रास से आने वाली एक उपनदी इसमें मिल जाती है। फिर यह कुछ दूर तक नियंत्रण रेखा के साथ-साथ चलकर गुरेज़ के पास पाक-अधिकृत कश्मीर के गिलगित-बल्तिस्तान क्षेत्र में दाख़िल हो जाती है। वहाँ से पश्चिम की तरफ़ बहकर यह मुज़्ज़फ़राबाद के उत्तर में झेलम नदी में जा मिलती है। इसके कुल २४५ किमी के मार्ग में से ५० किमी भारतीय नियंत्रण वाले इलाक़े में आता है और शेष १९५ किमी पाक-अधिकृत कश्मीर में।[1]

किशनगंगा वादी (नीलम वादी)

किशनगंगा वादी, जिसे पाकिस्तान नीलम वादी कहता है, एक २५० किमी लम्बी हरी-भरी हिमालय की गोद में स्थित तंग घाटी है। यह मुज़्ज़फ़राबाद​ से होकर अठमुक़ाम तक जाती है। यहाँ हिन्दू व बौद्ध धर्मों का ऐतिहासिक शिक्षा संस्थान, शारदा पीठ, स्थित है। यह पूर्व क्षेत्र सरस्वती देवी से सम्बंधित माना जाता था और इसे पुराने ज़माने में ‘शारदादेश’ भी कहा जाता था।[1][2]

नीलम वादी में प्रवेश करने के दो रास्ते हैं। एक तो मुज़्ज़फ़राबाद​ से आता है और दूसरा ख़ैबर-पख़्तूनख़्वा के मानसेहरा ज़िले के काग़ान​ शहर से।

इन्हें भी देखें

बाहरी कड़ियाँ

[छुपाएँ]देवासंजम्मू एवं कश्मीर की जलराशियाँ
नदियाँचनाब  • डोडा  • ड्रास  • जेहलम  • लिद्दर  • मरखा  • नाला पाल्खू  • किशनगंगा  • रावी  • साल्तोरो  • शिंगो  • शायोक  • सिन्धु  • सुरु  • तवी  • साराप  • यापोला  • ज़ांस्कर
झीलेंडल झील  • गाडसर  • गंगाबल झील  • कृष्णसर झील  • मानसबल झील  • मानसर झील  • पैंगोंग Tso  • शेषनाग झील  • तूलियन झील  • विशनसर  • वूलर झील
हिमनदड्रांग-ड्रंग हिमनद  • कोल्होई हिमनद  • मचोई हिमनद  • शफ़त हिमनद  • सियाचिन हिमनद
बांध, बैराजबग्लीहर बांध  • दुमखर बांध  • उरी बांध
निकटवर्ती जलराशियांहिमाचल प्रदेश  • पंजाब  • पाकिस्तान
[छुपाएँ]देवासंकश्मीर घाटी
दर्रेबनिहालजोजिलाबुरज़िलसिनथन टॉपमॉर्गन टॉप
घाटियाँसिंध घाटीलिद्दर घाटीलोलाब घाटीबीटा घाटी
नगरश्रीनगरअनंतनागबारामूला
क़स्बेAkingamAchabalपुलवामाबडगामगांदरबलशोपियांबांदीपुराकुलगामडाउनटाउननौशेरागुरेज़कंगनहजरतबलअवन्तिपोरात्रालकाज़ीगुंडकोकरनागशांगसबिजबिहारादोड़ूपहलगामपत्तनउड़ीक्रीरीबोनियारटंगमर्गसोपोरRafaiabadकरनाहकुपवाड़ालोलाबहंदवाड़ालनगेटचरार-ए-शरीफ़बीरवाहचाड़ूराबाग ए मेहताबसुंबल सोनवारीQuimohपहलूदमहाल हांजी पुरासौराBuchporaजवाहर नगर श्रीनगरराजबाग़बेमिनामैसुमाकरण नगरइंदिरा नगरहजरतबललाल चौकसोनवार बागनौहट्टाहजरतबलशालीमार बागलाल बाजारZukuraमुनव्वर अबदबादामी बागनौशेरासिंहपोरामागामकोकरनागDaksumसिनथन टॉप
नदियाँझेलमसिंधलिद्दरनीलमवेशवरम्बी आरा
हिमनदकोल्होईमाचोई
झीलेंअचर झीलडल झीलनिगीन झीलमानसबल झीलवुलर झीलविशनसरकृशनसरगंगाबल झीलगाडसरशेषनाग झीलतरसर झीलनंदकोल झीलसत्सरकौसरनागबरारी नामबलखुशाल सरगिल सर
पर्वतहरमुखकोल्होई चोटीमचोई चोटीअमरनाथ चोटीसिरबल पीकताताकुट्टी चोटीसनसेट पीकमहादेव
हिल स्टेशन
और
मुग़ल गार्डन
पहलगामसोनमर्गयुसमर्गगुलमर्गअहरबालनिशात बागशालीमार बागचश्मे शाहीवेरीनागकोकरनाग
अन्यकश्मीर का इतिहासकश्मीर संघर्षद वैली ऑफ़ कश्मीर1895 पुस्तक)नियंत्रण रेखाजम्मू-बारामूला रेलमार्गकश्मीरी भाषा

श्रेणियाँ

Leave a Reply

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *