तीस्ता नदी

तीस्ता
देश भारत बांग्लादेश
राज्यसिक्किमपश्चिम बंगालरंगपुर
उपनदियाँ
 – बाएँदिक छू, रांगपो, लां लां छू, लाचूं, रानी खोला
 – दाएँरांघ़ाप छू, रंगीत, रिंगयौं छू
नगरकालिम्पांगजलपाईगुड़ी
स्रोतपाउहुनरी हीमनदज़ेमू हीमनदचोलामु सरोवरगुरुदोंग्मार सरोवर
 – स्थानसिक्किमभारत
 – ऊँचाई7,068 मी. (23,189 फीट)
मुहानाब्रह्मपुत्र नदी
 – स्थानफुलचोरी, रंगपुर, बांग्लादेश
लंबाई309 कि.मी. (192 मील)
जलसम्भर12,540 कि.मी.² (4,842 वर्ग मील)
उत्तरी बंगाल की प्रमुख नदियाँ

तिस्ता नदी भारत के सिक्किम तथा पश्चिम बंगाल राज्य तथा बांग्लादेश से होकर बहती है। यह सिक्किम और पश्चिम बंगाल के जलपाइगुड़ी विभाग की मुख्य नदी है। पश्चिम बंगाल में यह दार्जिलिङ जिले में बहती है। तिस्ता नदी को सिक्किम और उत्तरी बंगाल की जीवनरेखा कहा जाता है।

सिक्किम और पश्चिम बंगाल से बहती हुई यह बांग्लादेश में प्रवेश करती है और ब्रह्मपुत्र नदी में मिल जाती है। इस नदी की पूरी लम्बाई ३१५ किमी है।

भारत और बंग्ला देश के बीच संयुक्त रूप से प्रवाहित होने वाली यह नदी भारत के सिक्किम और पश्चिम बंगा होते हुए बंगला देश में प्रवेश करती है। बंगाल की खाड़ी में गिरने वाली यह नदी भारत के साथ ही बंगला देश की समृद्धि की दृष्टि से बेहद महत्वपूर्ण नदी है।

हिन्दू पुराणों के अनुसार यह नदी देवी पार्वती के स्तन से निकली है। ‘तिस्ता’ का अर्थ ‘त्रि-स्रोता’ या ‘तीन-प्रवाह’ है।

सिक्किम प्रान्त की जितनी लम्बाई है लगभग पूरी लम्बाई लेकर बहती यह नदी वरदान्त हिमालय का समसितोष्ण र नदी की घाटी से उष्णकटिबंध तापमान को काटकर ले जाती है। चमकिली हरे (emerald) रंग की यह नदी बांग्लादेश में ब्रह्मपुत्र नदी में मिलनेसे पूर्व सिक्किम और पश्चिम बंगाल की सीमा॑ओं के रूप में बहती है।

नदी को लेकर भारत-बांग्लादेश विवाद

भारत-बांग्लादेश समझौते के तहत किस देश को कितना पानी मिलेगा, फिलहाल यह साफ नहीं है। जानकारों का कहना है कि समझौते के प्रारूप के मुताबिक, बांग्लादेश को 48 फीसदी पानी मिलना है, लेकिन पश्चिम बंगाल सरकार की दलील है कि ऐसी स्थिति में उत्तर बंगाल के छह जिलों में सिंचाई व्यवस्था पूरी तरह ठप हो जाएगी।[1]

पश्चिम बंगाल की मुख्यमंत्री ममता बनर्जी ने इस मुद्दे पर मार्च, 2015 में बांग्लादेश की प्रधानमंत्री शेख हसीना से बात की। यह वार्ता सकारात्मक रही तथा ममता बनर्जी ने बांग्लादेश को उचित जल बँटवारे का आश्वासन दिया। [2]

सहायक नदी और बांध

नदी की सहायक रांगपो नदी पर रंगीत बांध है।[3]

[छुपाएँ]देवासंभारत की नदियाँ
अलकनन्दा नदी  • इंद्रावती नदी  • कालिंदी नदी  • काली नदी  • कावेरी नदी  • कृष्णा नदी  • केन नदी  • कोशी नदी  • क्षिप्रा नदी  • खड़कई नदी  • गंगा नदी  • गंडक नदी  • गोदावरी नदी  • गोमती नदी  • घाघरा नदी  • चम्बल नदी  • झेलम नदी  • टोंस नदी  • तवा नदी  • चनाब नदी  • ताप्ती नदी  • ताम्रपर्णी नदी  • तुंगभद्रा नदी  • दामोदर नदी  • नर्मदा नदी  • पार्वती नदी  • पुनपुन नदी  • पेन्नार नदी  • फल्गू नदी  • बनास नदी  • बराकर नदी  • बागमती  • बाणगंगा नदी  • बेतवा नदी  • बैगाई नदी  • बैगुल नदी  • ब्यास नदी  • ब्रह्मपुत्र नदी  • बकुलाही नदी  • भागीरथी नदी  • भीमा नदी  • महानंदा नदी  • महानदी  • माही नदी  • मूठा नदी  • मुला नदी  • मूसी नदी  • यमुना नदी  • रामगंगा नदी  • रावी नदी  • लखनदेई नदी  • लाछुंग नदी  • लूनी नदी  • शारदा नदी  • शिप्रा नदी  • सतलुज नदी  • सरस्वती नदी  • साबरमती नदी  • सिन्धु नदी  • सुवर्णरेखा नदी  • सोन नदी  • हुगली नदी  • टिस्टा नदी  • सई नदी
[छुपाएँ]देवासंसिक्किम
राजधानी: गंगटोक
विषयइतिहास  • राजनीति  • लोग
जिलेउत्तर सिक्किम जिला (मंगन)  • दक्षिण सिक्किम जिला (नाम्ची)  • पूर्व सिक्किम जिला (गान्तोक)  • पश्चिम सिक्किम जिला (गेजिंग)
प्रमुख शहरजोरेथांग  • सिंगताम  • रांगपो  • अपर टैडोंग
नदियाँजलढका  • लोनाक  • लोनाक  • लोनाक  • रंगीत  • रम्फू छु  • रम्फू नदी  • रानीखोला  • रातेखोला  • रोरो छु  • टिस्टा
झीलेंगुरुदोङ्गमार  • खेचिपेरी  • मेन्मेछो झील  • छो लामो  • छङ् मो
ग्लैशियरलोनाक ग्लैशियर  • राथोङ्ग ग्लैशियर  • जेमू हिमनद

साँचा:बांग्लादेश की नदियाँ

श्रेणियाँ

Leave a Reply

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *