मध्य प्रदेश की नदियों की सूची

मध्य प्रदेश में उप-उष्णकटिबंधीय जलवायु होने के कारण यहाँ की नदियों और नालों की एक बड़ी संख्या को जल मानसून की बारिश (1,400 मि॰मी॰ (55.1 इंच)) से को प्राप्त होता है। मात्रा के अनुसार इनमें से सबसे बड़ी नर्मदा, और उसके बाद ताप्ती आती है। मध्य प्रदेश पांच प्रमुख नदी घाटियों में आता है। राज्य का उत्तरी भाग गंगा बेसिन के भीतर पड़ता है जहाँ बेतवाचंबल और सोन बहते हैं। गंगा बेसिन के दक्षिण में नर्मदा बेसिन है, जो सतह क्षेत्र द्वारा दूसरा सबसे बड़ा क्षेत्र है। अन्य तीन बेसिन मध्य प्रदेश के छोटे हिस्से को कवर करते हैं, जिसमें पश्चिम में माही बेसिन,[1] तापी बेसिन[2] और दक्षिण में गोदावरी बेसिन आते है।[3][4]

मध्यप्रदेश की नदियाँ

क्र.नदीलम्बाईउद्गम स्थलअवसानसहायक नदियाँजलप्रपात
1नर्मदा१३१२ किमी
(म.प्र. में १०७७ किमी.)
अमरकंटक, जिला अनूपपुरखंभात की खाड़ी, गुजरात
(अरब सागर में)
हिरन, तिन्दोली, बनास, चन्द्रकेशर, कानर, बरना, तवा, शेर, शक्कर, मानधुँआधार जलप्रपात, दुग्धधारा जलप्रपात, मंधार जलप्रपात, कपिल धारा जलप्रपात, सहस्रधारा जलप्रपात, दर्दी जलप्रपात
2चम्बल९६५ किमीजानापाव पहाडी, महू (इंदौर)यमुना नदी में संगम, इटावा (उ.प्र.)काली सिंध, पार्वती, क्षिप्राझाड़ी दाहा जलप्रपात, पातालपानी जलप्रपात
3ताप्ती724बैतूल के मुल्ताई सेखंबात की खाड़ी मेंपूर्णा शिवा बोरी
4सोन780 kmअनूपपुर जिले सेउत्तर प्रदेश के सोनभद्र तथा बिहारजोहिला गोपद रिहंड
5बेतवा480 kmरायसेन के कुमारागौं सेयूपी हमीरपुर यमुना नदीबिना धसाना सिंध
6तवा172km
7क्षिप्रा195km
8बेनगंगा
9केन292km
10सिंध
11कालीसिंध
12गार
13छोटी तवा
14शक्कर
15वर्धा
16कुंवारी
17पार्वती/पारा
18कुनू
19धसान
20टोंस/तमसा
21माही

श्रेणियाँ

Leave a Reply

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *