विश्वामित्री नदी

विश्वामित्री नदी एक मौसमी नदी है जो गुजरात में, माही और नर्मदा नदियों के बीच पूर्व से पश्चिम की ओर बहती है। यह पावगढ़ पहाड़ी से निकलती है।

विश्वामित्री वडोदरा शहर के मध्य से पश्चिम की ओर बहती है और खानपुर गांव के पास खंभात की खाड़ी में गिरने से पहले धधार नदी और खानपुर नदी में शामिल हो जाती है। [1] इस नदी प्रणाली में अजवा के पास सयाजी सरोवर और धधार शाखा पर देव बांध शामिल हैं। चूंकि यह वडोदरा के मध्य से बहती है, विश्वामित्री नदी को शहर के वाहितमल और पास के उद्योगों से प्रदूषण प्राप्त होता है। मगरमच्छ विशेषज्ञ समूह द्वारा 2002 में किए गए एक अध्ययन से पता चला कि इन प्रदूषकों के बावजूद, वडोदरा से गुजरने वाली नदी के 25 किलोमीटर (16 मील) की दीरी तक 100 मगर मगरमच्छ रहते हैं।[2][3] विश्वामत्री और इसकी सहायक नदियों पर कई बांधों के बावजूद यह बाढ़ के अधीन रहती है।[4][5]

वडोदरा नगर निगम (वीएमसी) साबरमती नदी के विकास के तर्ज पर विश्वमित्र नदी के विकास के लिए एक संस्था स्थापित करने की योजना बना रहा है, हालांकि नदी के विकास के लिए 20 से 25 साल लग सकते हैं।[6][7][8]

बाहरी कड़ियाँ

श्रेणियाँ

Leave a Reply

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *