अदिति गुप्ता

अदिति गुप्ता

ज़रा नचके दिखा में अदिति गुप्ता
जन्म तिथि२१ अप्रैल१९८८
जन्म स्थानपुणेभारत
जन्म-नामअदिति
गृहनगरपुणे
प्रथम धारावाहिककिस देश में है मेरा दिल
प्रथम-अभिनय भूमिकाहीर मान
पुरस्कार/सम्माननीचे देखें
जीवनसाथीअविवाहित
वा

अदिति गुप्ता, जन्म २१ अप्रैल१९८८, एक भारतीय टेलीविज़न अभिनेत्री हैं। अदिति ने अपना स्वप्निल प्रथम-अभिनय बालाजी टेलीविज़न के ‘किस देश में है मेरा दिल‘ नामक कार्यक्रम में हर्षद चोपड़ा के विपर्यय स्वरूप किया था जब वे केवल १९ वर्ष की थीं। उनका गृहनगर पुणे है और वे एक व्यवहार अभिकल्पक (फैशन डिजाइनर) बनना चाहती थीं, लेकिन परिस्थितियां कुछ ऐसी बदलीं की उन्हें मुख्य भूमिका निभाने का अवसर मिल गया।

रोमन लिपि में अदिति का नाम Aditi ना लिखकर Additi लिखा जाता है। इसका हिन्दी में नाम इस प्रकार बनेगा ‘अद्दिति’। यह इसलिए क्योंकि बालाजी टेलीविज़न की स्वामी एकता कपूर का अंकज्योतिष में बहुत विश्वास है और इसलिए उन्होंने नाम में एक अतिरिक्त d जोड़ दिया है। अदिति का कहना है कि वे अपने अभिनय-पात्र हीर से बिल्कुल विपरीत हैं और बहिर्मुखी हैं और लड़कों से इश्कबाज़ी करना पसंद करती हैं। व्यवसाय से अदिति पुणे से एक व्यवहार अभिकल्पक हैं।

अभी वह बालाजी टेलीफ़िल्म्स के धरावाहिक किस देश में है मेरा दिल में हीर नाम की लड़की की मुख्य भूमिका निभा रही हैं। वृतांतों पर उन्होनें विभिन्न प्रदर्शन किए हैं, जैसे स्टार परिवार अवार्डस, स्टार प्लस के रंग दे इंडिया वृतांत, बालाजी के दिवाली रिश्तों की इत्यादि। उन्होनें कैमिया (अतिथि भूमिका) भुमिकाएं भी निभाई हैं जैसे कयामथ में और बालाजी के कार्यक्रम कसौटी जिंदगी की के अंतिम धारावाहिक में।

वर्तमान परियोजनाएं

काम

पुरस्कार

  • रिलायंस मोबाइल स्टार परिवार अवार्डस २००८ (पसंदीदा योग्य जोड़ी, हर्षद मेहता के साथ बतौर हीर मान)
  • न्यू टैलेंट अवार्डस २००८ (परदे पर सर्वश्रेष्ठ दंपत्ति हर्षद दोपड़ा के साथ बतौर हीर मान)
  • स्टार परिवार अवार्डस २००९ (पसंदीदा जोड़ी, हर्षद चोपड़ा के साथ बतौर हीर मान / जुनेजा)

गौण बातें

  • अदिति को संगीत सुनना पसंद है, उन्हें पश्विमी परिधान पसंद हैं, उनका पसंदीदा गाना है “भीगी-भीगी रातों में”।
  • अदिति का सबसे अच्छा मित्र उनका लैपटॉप है। वह अपना खाली समय अपने लैपटॉप पर बिताना पसंद करती है। उनके लैपटॉप पर उनकी बहुत-सी गूढ़ बातें हैं जिन्हें वे किसी के साथ नहीं बाँटती हैं।
  • अदिति सदैव एक व्यवहार अभिकल्पक बनना चाहती थीं और उन्होंने कभी नहीं सोचा था की वे कभी अभिनेत्री बनेंगी।
  • अदिति का कहना है कि वे अपने अभिनय-पात्र हीर जैसी नहीं हैं और उन्हें लड़कों के साथ इश्कबाज़ी करना पसंद है।

सन्दर्भ

श्रेणियाँ

Leave a Reply

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *