परेश रावल

परेश रावल
सांसद, लोकसभा
पद बहाल
मई 2014 – मई 2019
पूर्वा धिकारीहरिन पाठक
उत्तरा धिकारीहंसमुख पटेल
चुनाव-क्षेत्रपूर्वी अहमदाबाद
जन्म30 मई 1955 (आयु 65)
मुम्बई, भारत[1]
राष्ट्रीयताभारतीय
राजनीतिक दलभारतीय जनता पार्टी
जीवन संगीस्वरूप सम्पत
बच्चे2
शैक्षिक सम्बद्धताएनएम महाविद्यालय
व्यवसायअभिनेता, निर्माता, राजनीतिज्ञ
धर्महिन्दू
पुरस्कार/सम्मानपद्म श्री

परेश रावल (जन्म: 30 मई1950हिन्दी फ़िल्मों के एक अभिनेता हैं। 2014 में उन्हें पद्म श्री से सम्मानित किया गया। यह 1994 में राष्ट्रीय फ़िल्म पुरस्कार सहायक किरदार के लिए से सम्मानित हुए। इसके बाद इन्हें सर्वश्रेष्ठ हास्य अभिनेता का फ़िल्मफेयर पुरस्कार भी मिल चुका है। यह केतन मेहता की फ़िल्म सरदार में स्वतंत्रता सेनानी वलभभाई पटेल की मुख्य किरदार में नजर आए थे। [2]

व्यक्तिगत जीवन

परेश रावल का जन्म मुम्बई, भारत में हुआ। अभिनेत्री और 1979 में मिस इंडिया बनी स्वरूप सम्पत के साथ इनका विवाह हो गया। इयानके दो बच्चे आदित्य और अनिरुद्ध हैं।[1]

अभिनय

रावल ने अभिनय की शुरूआत 1984 में की थी। तब यह होली नामक फ़िल्म में एक सहायक किरदार निभाया था। इसके बाद 1986 में नाम नामक फ़िल्म से उनके अभिनय का गुण लोगों को पता चला। इसके बाद वह 1980 से 1990 के मध्य 100 से अधिक फ़िल्मों में खलनायक की भूमिका में नजर आए। इसमें कब्जा, किंग अंकल, राम लखन, दौड़, बाज़ी और कई फ़िल्मों में कार्य किया।

यह एक हास्य फ़िल्म अंदाज़ अपना अपना में पहली बार दो किरदार में नजर आए। इसके बाद वर्ष 2000 में एक हिन्दी फ़िल्म “हेरा फेरी” में अपने अभिनय और किरदार के कारण वह इसके बाद कई फ़िल्मों में मुख्य किरदार भी निभा चूकें हैं। हेरा फेरी फ़िल्म में राजू (अक्षय कुमार) और श्याम (सुनील शेट्टी) उसके घर किराए पर रहते हैं। जबकि रावल उसमें मकान मालिक का किरदार निभाते हैं। इस किरदार को हेरा फेरी के सफलता का श्रेय दिया गया है। इसमें उनके कार्य के लिए वह फ़िल्मफेयर पुरस्कार (सर्वश्रेष्ठ हास्यकार) भी जीत चूकें हैं। उनका बाबुराव का किरदार उसके दूसरे भाग फिर हेरा फेरी (2006) में भी देखने को मिला, यह फ़िल्म भी सफल रही। रावल को सर्वश्रेष्ठ फिल्म पुरस्कार, सर्वश्रेष्ठ कॉमेडियन और लीड रोल के लिए फिल्मफेयर पुरस्कार, सहायक भूमिका मिली है। परेश रावल सबसे लोकप्रिय और वाणिज्यिक सफल फिल्मों में क्षणाशन (1991), मनी (199 3), मनी मनी (1995), गोविंदा गोविंदा (1994), रिक्शावुडू (1995), बावागरु बागुनारा (1998), शंकर दादा एमबीबीएस (2004), और टीन मार (2011) इत्यादि। 2012 में आयी फिल्म omg में कांजिलाल मेहता के रूप में उनका किरदार आज भी विस्मरणीय है फिल्म जगत में ये एक ऐसे चेहरे में गिने जाते है जिनका अभिनय चाहे किसी भी किरदार में हो जान डाल देती है फिल्म में। वर्ष 2018 में राजकुमार हिरानी की फिल्म संजू (संजय दत्त की बायोपिक फिल्म) में सुनील दत्त (संजय दत्त के पिता) के रूप में उनका साक्षात् चित्रण किया जिससे उन्होंने फिल्म में काफी प्रसिद्धि मिली ।

राजनीति में योगदान

परेश रावल भारत के अहमदाबाद पूर्व संसदीय क्षेत्र से पूर्व सांसद थे। यह भारतीय जनता पार्टी के राजनेता है। [3]

प्रमुख फिल्में

वर्षफ़िल्मचरित्रटिप्पणी
2019उरी द सर्जिकल स्ट्राइक
२०१५वेलकम बैकडॉ घुगरू
धरम संकट मेधर्मपाल
२०१४राजा नटवरलालयोगी
हिम्मतवालानाराय़णदास
जिला गाजियाबादब्रह्मपाल सिंह चौधरी
२०१३टेबल नंबर 21श्री खान
२०१२खिलाड़ी 786
ओ म जि- हे भगवान!कांजी भाई
फरारी की सवारीडी.एन.धर्माधिकारी
तेज
२०११रेडीबलिदान भारद्वाज
२०१०रणमोहन पांडे
रंग रसियागोवर्धन दास
आक्रोशअजातशत्रु सिंह
अतिथि तुम कब जाओगे?लंबोदर चाचा
२००९रोड टु संगमहसमत उल्लाह
‘पा’श्री अञे
रेडियोझंडु लाल त्यागी
ढूडते रेह जाओगेराज चोपड़ा
दे दना दनहरबंस चड्ढा
२००८एक दो तीन
जाने तू … या जाने ना
मान गये मुगल-ए-आजम
मुंबई मेरी जान
मेरे बाप पहले आपजनार्दन विशवंभर राने
२००७चीनी कमवर्मा
नो स्मोकिंग
भूल भुलैयाबटुकशंकर उपाध्याय
फौज में मौज
गुड बॉय बैड बॉयप्रिंसीपल दीवान चन्द अवस्थी
फूल एन फाइनल
जाने तू या जाने ना
वैलकम
हैटट्रिक
२००६मालामाल वीकली
भागम भाग
फिर हेरा फेरी
36 चाइना टाउन
चुप चुप के
जाने होगा क्या
गोलमालसोमनाथ
यूँ होता तो क्या होता
२००५बचके रहना रे बाबा
गरम मसालामैम्बो
दीवाने हुए पागलटॉमी
२००४हलचल
शंकर दादा एम बी बी एस
आन
ऐतराज़वकील पटेल
पूछो मेरे दिल सेचमनलाल चौरसिया
२००३बाघबानहेमंत पटेल
हंगामाराधेश्याम तिवारी
दिल का रिश्ता
जोड़ी क्या बनाई वाह वाह रामजीरामप्रसाद
फंटूशजॉन डिसूज़ा
आँच
२००२कहता है दिल बार बार
हम किसी से कम नहींकमिश्नर
आवारा पागल दीवानामणिलाल
आँखेंइलियास
चोर मचाये शोर
२००१ये तेरा घर ये मेरा घर
लव के लिये कुछ भी करेगा
अमेरिकन चाय
नायकबंसल
मोक्ष
२०००हेरा फेरीबाबू भैया
दुल्हन हम ले जायेंगे
दीवाने
हद कर दी आपने
तेरा जादू चल गया
हर दिल जो प्यार करेगा
बुलन्दी
फिर भी दिल है हिन्दुस्तानीमोहन जोशी
शिकारी
१९९९वास्तवसुलेमान भाई
खूबसूरत
हम तुम पे मरते हैं
आरज़ू
हसीना मान जायेगीभूतनाथ
गैर
बड़े दिलवाला
आ अब लौट चलें
१९९८सत्याकमिश्नर अमोद शुक्ला
बदमाश
हीरो हिन्दुस्तानी
कभी ना कभी
अंगारेजग्गू
बड़े मियाँ छोटे मियाँ
चाची ४२०
चाइना गेट
कुदरतसुखीराम
दंड नायकबाँकेलाल चौरसिया
अचानकसागर श्रीवास्तव
डोली सजा के रखना
१९९७तमन्ना
मिस्टर एंड मिसेज़ खिलाड़ीप्रताप
दौड़पिंकी
इंसाफ
ग़ुलाम-ए-मुसतफा
जुदाई
गुप्तईस्वर दीवान
हीरो नम्बर वन
मृत्युदाता
आर या पारए ख़ान
औज़ार
ज़मीरराजा गजराज सिंह
महानता
कहर
१९९६बंदिश
विजेताविद्या सागर
ग्रेट रॉबरी
हाहाकार
निर्भय
रंगबाज़
१९९५बाज़ी
मिलन
निशाना
ओ डार्लिंग यह है इण्डिया
रिकशावोडु
संजयरणवीर सिंह
मनी मनीसुब्बा राव
जनम कुंडली
अकेले हम अकेले तुम
राजा
रावण राजमंत्री चरनदास
१९९४द जेंटलमैन
वो छोकरी
अंदाज़ अपना अपना
आग और चिन्गारी
दिलवाले
क्रान्तिवीर
लाड़ला
मोहरा
जुआरी
इक्का राजा रानी
आ गले लग जा
१९९३सरदार
अंत
रूप की रानी चोरों का राजा
सर
पहला नशा
कृष्ण अवतारचक्रवर्ती चक्रवर्ती
गोविन्दा गोविन्दा
प्लेटफॉर्म
मनीसुब्बा राव
परवाने
दिल की बाज़ी
मायालाला जी
कन्या दान
मुकाबला
फूल और अंगार
किंग अंकलप्रताप
दामिनी
१९९२दुश्मन ज़माना
दौलत की जंगहरि भाई
पुलिस ऑफिसर
कर्म योद्धाइंस्पेक्टर देशमुख
जानमशंकर राव
तिलक
जीना मरना तेरे संग
ज़ुल्म की अदालतस्वामी
अधर्म
जिगर
विरोधी
१९९१क्षण क्षणम
स्वयं
योद्धा
हक
प्रेम कैदी
साथी
आई मिलन की रात
फ़तेह
शंकरा
गुनहगार
प्रतिकार
१९९०स्वर्ग
काफ़िलादुबे
आवारगीभाऊ
जीवन एक संघर्ष
न्याय अन्यायमल्होत्रा
क्रोध
जख्मी ज़मीनठाकुर प्रताप सिंह
गुनाहों का देवतावकील खन्ना
वर्दी
१९८९ताकतवर
शिवा
हथियार
राम लखनभानू राजेन्द्रनाथ
१९८८खरीदार
कब्ज़ा
आखिरी अदालतगिरजा शंकर
फ़लक
खतरों के खिलाड़ी
सोने पे सुहागासब-इंस्पेक्टर तेजा
१९८७उत्तर दक्षिण
डकैत
मरते दम तकइंस्पेक्टर खन्ना
१९८६नामराना
समुन्दर
भगवान दादाइंस्पेक्टर विजय
१९८५अर्जुन
मिर्च मसालागाँव वाला
१९८४लोरीवादी वकील
होली
धर्म और कानून

नामांकन और पुरस्कार

फ़िल्मफ़ेयर पुरस्कार

सन्दर्भ

  1. ↑ इस तक ऊपर जायें:अ  Asira Tarannum, TNN Aug 2, 2011, 03.14pm IST. (2011-08-02). “‘Star kids are not good actors’ – Times Of India”. Articles.timesofindia.indiatimes.com. मूल से 5 जुलाई 2013 को पुरालेखित. अभिगमन तिथि 2013-08-03.
  2.  “पद्म पुरस्कारों की घोषणा”. नवभारत टाईम्स. 25 जनवरी 2013. मूल से 2 फ़रवरी 2014 को पुरालेखित. अभिगमन तिथि 27 जनवरी 2014.
  3.  “Paresh Rawal in dinu solanki out”. 23 March 2014. मूल से 28 May 2014 को पुरालेखित. अभिगमन तिथि 8 May 2020.

बाहरी कड़ियाँ

[छुपाएँ]देवासंफ़िल्मफ़ेयर सर्वश्रेष्ठ हास्य अभिनेता पुरस्कार
1967-1985महमूद (1967) * ओम प्रकाश (1968) * जॉनी वॉकर (1969) * महमूद (1970) * आई॰ एस॰ जौहर (1971) * महमूद (1972) * पेंटल (1973) * असरानी (1974) * महमूद (1975) * देवेन वर्मा (1976) * असरानी (1977) * पेंटल(1978) * देवेन वर्मा (1979) * उत्पल दत्त (1980) * केष्टो मुखर्जी (1981) * उत्पल दत्त (1982) * देवेन वर्मा (1983) * उत्पल दत्त (1984) * रवि वासवानी (1985)
1986-2007अमज़द ख़ान (1986) * no award (1987, 1988, 1989) * अनुपम खेर – सतीश कौशिक (1990) * कादर ख़ान (1991) * अनुपम खेर (1992) * अनुपम खेर (1993) * अनुपम खेर (1994) * अनुपम खेर (1995) * अनुपम खेर (1996) * सतीश कौशिक (1997) * जॉनी लीवर (1998) * जॉनी लीवर (1999) * गोविन्दा (2000) * परेश रावल (2001) * सैफ़ अली ख़ान (2002) * परेश रावल (2003) * संजय दत्त (2004) * सैफ़ अली ख़ान (2005) * अक्षय कुमार (2006) * अरशद वारसी (2007)
[छुपाएँ]देवासंफ़िल्मफ़ेयर सर्वश्रेष्ठ खलनायक पुरस्कार
सदाशिव अमरापुरकर (1992) * नाना पाटेकर (1993) * परेश रावल (1994) * शाहरुख खान (1995) * मिथुन चक्रवर्ती (1996) * अरबाज़ ख़ान (1997) * काजोल (1998) * आशुतोष राणा (1999) * आशुतोष राणा (2000) * सुनील शेट्टी (2001) * अक्षय कुमार (2002) * अजय देवगन (2003) * इरफ़ान ख़ान (2004) * प्रियंका चोपड़ा (2005) * नाना पाटेकर (2006) * सैफ़ अली ख़ान (2007)

श्रेणियाँ

Leave a Reply

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *