मनमोहन (अभिनेता)

मनमोहन
जन्मजमशेदपुर, बिहार और उडीसा प्रांत, ब्रिटिश भारत
मृत्युअगस्त1979
मुम्बईमहाराष्ट्रभारत
राष्ट्रीयता भारतीय
व्यवसायअभिनेतानिर्माता
बच्चेनितिन मनमोहन (निर्माता)

मनमोहन[1] हिन्दी फ़िल्मों के एक चरित्र अभिनेता थे जो मुख्यतः खलनायक की भूमिका के लिये जाने जाते हैं।[2] उन्होनें कई बंगालीपंजाबी तथा गुजराती फ़िल्मों में भी कार्य किया है।

व्यक्तिगत जीवन

उनका जन्म जमशेदपुरब्रिटिश भारत मे एक उच्च वर्गीय परिवार में हुआ। अपने अन्य तीन भाईयों से अलग उन्हे बचपन से ही अभिनय का शौक था। सन् 1950 में वें मुम्बई आ गए, सौभाग्यवश उन्हे काम पाने के लिए संघर्ष नहीं करना पडा। वे बहुत मित्रवत व्यक्ति थे, हमेशा अपने दोस्तो की मदद के लिए तैयार रहते थे। उनके पुत्र नितिन मनमोहन मशहूर निर्माता है जिन्होनें बोल राधा बोल (1992), लाड़ला (1994), दीवानगी (2002), भूत (2003) और यमला पगला दीवाना (2011) जैसी फ़िल्मो का निर्माण किया है।

फ़िल्मी सफर[संपादित करें]

मनमोहन ने अपने सफर की शुरूआत ये रास्ते हैं प्यार के (1963) मे एक छोटी भूमिका से की। वे शंकर-जयकिशन के करीबी थे, जयकिशन ने ही उनका परिचय निर्देशक केवल कश्यप से करवाया जिन्होनें उन्हे अपनी फ़िल्म शहीद (1965) में काम दिया। धीरे-धीरे वे उस दौर के प्रमुख खलनायको मे शुमार हो गए, और एक साल तो उनकी लगभग 14 फ़िल्में एक ही महीने मे प्रदर्शित हुई, सत्तर के दशक मे वे अपने शिखर पर थे। यदि मनोज कुमारशक्ति सामंत तथा प्रमोद चक्रवर्ती में से कोई फ़िल्म बनाते तो उसमे बगैर उनसे पूछे उन्हे भूमिका दे देते, लेकिन मनमोहन भी कभी किसी को इनकार नही करते। वे निर्देशक भप्पी सोणी की भी सभी फ़िल्मों मे कार्यरत रहते थे।

प्रमुख फ़िल्में

वर्षफ़िल्मभूमिका
1963ये रास्ते हैं प्यार केविक्रेता
1965शहीदचंद्रशेखर आज़ाद
गुमनामकिशन
जानवर
1966नींद हमारी ख़्वाब तुम्हारेनवाब शौकत हमीद ख़ान
मोहब्बत ज़िंदग़ी हैप्रीतम
मेरा सायाडॉक्टर
1967नौनिहालउस्ताद मंशाराम
उपकारकविता का भाई
आगपुलिस इंस्पेक्टर
1968शिकाररॉबी
परिवारबशीर
ब्रह्मचारीबसंत
औलादसूरज / अरूण
1969आराधनाश्याम
तुमसे अच्छा कौन हैमनमोहन
सत्यकामकुंवर विक्रम सिंह
प्यार ही प्यारश्याम कुमार
1970प्रेम पुजारीचीनी फौजी अफसर
पूरब और पश्चिममोहन
हमजोलीमनमोहन
1972अमर प्रेमप्रेम रतन
ललकारजापानी फौज़ी अफसर
शोरकब्रस्तान के राजा
1973जुगनूमाइक
नमक हरामजय सिंह
1975आँधीएसके अग्रवाल
अमानुषसनातन

सन्दर्भ

  1.  मनमोहन Archived 2015-03-30 at the Wayback Machine http://cineplot.com Archived 2015-09-15 at the Wayback Machine
  2.  Villains in Indian cinema Archived 2016-03-06 at the Wayback Machine http://tilakrishi.blogspot.in Archived 2015-10-03 at the Wayback Machine

बाहरी कड़ियाँ

श्रेणियाँ

Leave a Reply

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *