प्राचीनभारत

प्राचीन भारतीय इतिहास के साहित्यिक साधन Posted by: संपादक- मिथिलेश वामनकर on: फ़रवरी 16, 2009 In: प्राचीन-भारत 22 Comments प्राचीन भारत की सभ्यता, संस्कृति तथा शासन कला का अध्ययन करने के पूर्व इतिहास की उन सामग्रियों का अध्ययन करना अत्यावश्यक है जिनके द्वारा हमें प्राचीन भारत के इतिहास का ज्ञान होता है। यों तो भारत के प्राचीन साहित्य तथा दर्शन के संबंध […]

मध्यकालीन भारत

किताब फ़ी तहफ़ूक़ मा लिल हिन्द मिन मक़ाला मक़्बूला फ़िल अक़्ल-औ-मरजूला Posted by: संपादक- मिथिलेश वामनकर on: फ़रवरी 15, 2009 In: मध्यकालीन-भारत 1 Comment “मेरी पुस्तक तथ्यों का ऐतिहासक अभिलेख है मैं पाठकों के सम्मुख हिन्दुओं के सिद्धांत एकदम ठीक रूप में प्रस्तुत करूंगा और उनके संबंध में यूनानियों के वे सिद्धांत पेश करूँगा जो हिन्दू सिद्धान्तों से मिलते-जुलते हैं ताकि उन […]

आधुनिकभारत

दक्कन के किसानों का दंगल In: आधुनिक-भारत टिप्पणी करे औपनिवेशिक बंगाल के किसानों और जमींदारों और राजमहल की पहाड़ियों के पहाड़िया और संथाल लोगों के जीवन जो परिवर्तन आये, हमने पिछले दो लेखो- १. औपनिवेशिक बंगाल में भूमि बंदोबस्त, २.राजमहल की पहाड़ियों में हल, कुदाल और संथाल – में देखा। अब दृष्टिपात करें  कि बम्बई दक्कन के देहाती क्षेत्र […]

राजमण्डल

राजमण्डल का सिद्धान्त कौटिल्य द्वारा रचित अर्थशास्त्र में आया है। ‘मडल’ का अर्थ ‘वृत्त’ है। इस सिद्धान्त में किसी राज्य के मित्रमण्डली और शत्रुओं की मडली का सिद्धान्त दिया गया है। मनु का मण्डल सिद्धांत# मनु के मण्डल सिद्धांत के अनुसार राजा को अपनी शक्ति और प्रभाव के विस्तार के लिए सदा जागरूक रहना चाहिए॥ इस नीति का उपयोग कौटिल्य […]

राज्य की मार्क्सवादी अवधारणा

कार्ल मार्क्स ने अपने पीएचडी शोध-प्रबंध के बाद लिखी गयी पहली लम्बी रचना में काफ़ी गहनता से राज्य की अवधारणा का विश्लेषण किया था। इस रचना का शीर्षक था : ‘क्रिटीक ऑफ़ हीगेल्स फ़िलॉसफ़ी ऑफ़ स्टेट’ (1843)। बाद में मार्क्स ने अपने ऐतिहासिक लेखन में राज्य पर गहराई से विचार किया। इस संदर्भ में ‘क्लास स्ट्रगल इन फ़्रांस’ (1850), […]

राज्य सभा

निर्देशांक: 28°37′0″N 77°12′30″E राज्यसभाराज्यों की परिषद भारत का राजचिह्न प्रकार प्रकार उच्च सदन of the भारत की संसद Term limits ६ वर्ष नेतृत्व सभापति( उपराष्ट्रपति) वैंकेया नायडू[1]११ अगस्त २०१७ उपसभापति हरिवंश नारायण सिंह, जद(यू)९ अगस्त २०१८ सदन के नेता थावरचंद गहलोत, भाजपा११ जून २०१९[2] विपक्ष के नेता मल्लिकार्जुन खड़गे, कांग्रेस१६ फरवरी २०२१[2] Structure सीटें २४५ (२३३ निर्वाचित + १२ मनोनीत) Political groups GovernmentNDA (145)     BJP (96)     AIADMK (9)     BJD (9)     TRS (7)     YSRCP (6)     JD(U) (5)     AGP (1)     NPP (1)     MNF (1)     PMK (1)     NPF (1)     SDF (1)     TMC(M) (1)     RPI(A) (1)     IND (1)     NOM (4)OppositionUPA (95)     INC (35)     AITC (12)     DMK (7)     CPI(M) (6)     RJD (5)     SP (5)     NCP (4)     AAP (3)     SAD (3)     BSP (3)     SHS (3)     CPI (2)     TDP (1)     JD(S) (1)     LJD (1)     JMM (1)     IUML (1)     MDMK (1)     IND (1)Vacant (5)     Vacant […]

राज्यतन्त्र

राज्यतन्त्र (polity) किसी भी प्रकार की राजनैतिक इकाई को कहते हैं, यानि यह किन्ही भी लोगों का ऐसा समूह होता है जो सामूहिक पहचान रखें, संसाधनों को काबू करके उनका प्रयोग करने में सक्षम हों और आपस में किसी पदानुक्रम के आधार पर आदेश देने वालों और उन आदेशों का पालन करने वालों में संगठित हों।[1] इन्हें भी देखें समाजशास्त्र […]

राष्ट्रपति

राष्ट्रपति देश और सरकार दोनों का प्रमुख है। राष्ट्रपति देश की सरकार का संवैधानिक प्रमुख होता है। और देश का प्रथम नागरिक होता है। इन्हें भी देखे 15 अगस्त 1947 को भारत ब्रिटेन से स्वतंत्र हुआ था और अन्तरिम व्यवस्था के तहत देश एक राष्ट्रमंडल अधिराज्य बन गया। इस व्यवस्था के तहत भारत के गवर्नर जनरल को भारत के राष्ट्रप्रमुख के रूप में स्थापित […]

राष्ट्रप्रमुख

शृंखला का एक भाग राजनीति प्राथमिक विषयों[छुपाएँ]राजनीति लेख के सूचकांकदेश से राजनीतिउपखंड द्वारा राजनीतिराज्यार्थ व्यवस्थाराजनीतिक इतिहासविश्व के राजनीतिक इतिहासराजनीतिक दर्शन राजनीतिक प्रणाली[छुपाएँ]अराजकता • पूंजीवादसिटी स्टेट • साम्यवादलोकतंत्र • सामंतवादFeudalism • Mixed economyतानाशाही • DirectorialismMeritocracy • राजतन्त्रसंसदीय • अध्यक्षीयअर्ध राष्ट्रपति • धर्मतंत्र शैक्षणिक विषय[छुपाएँ]राजनीति विज्ञान (राजनीतिक वैज्ञानिक)अंतर्राष्ट्रीय संबंध (सिद्धांत)तुलनात्मक राजनीति लोक प्रशासन[छुपाएँ]अफसरशाही (गली-स्तर)Adhocracy नीति[छुपाएँ]लोक नीति (वाद)सार्वजनिक हित विदेश नीति सरकार के अंग[छुपाएँ]शक्तियों का पृथक्करणविधायिका कार्यकारिणीन्यायपालिका चुनाव शाखा सम्बंधित विषय[छुपाएँ]सार्वभौम राष्ट्रराजनीतिक व्यवहार का सिद्धांतराजनीतिक मनोविज्ञानजीवविज्ञान और राजनीतिक उन्मुखीकरणराजनीतिक संगठन उपश्रेणियाँ[छुपाएँ]चुनाव प्रणालीचुनाव।मतदानसंघवादसरकार […]