History of Indian Banking

भारतीय बैंकिंग व्यवस्था का इतिहास History of Indian Banking in Hindi भारतीय बैंकिंग प्रणाली के विकास के इतिहास को निम्न भागों में विभाजित किया जा सकता है – प्रथम चरण (प्रारंभ से 1806 तक) ब्रिटिश शासन काल से पूर्व देश में बैंकिंग का कोई विशेष विकास नहीं हुआ था इसमें साहूकारों एवं महाजनों का वर्चस्व था […]

concept of national income

राष्ट्रीय आय की अवधारणाएं एवं प्रति व्यक्ति आय सकल घरेलू उत्पाद (G.D.P.) किसी देश की घरेलू सीमा के अंदर एक वर्ष में उत्पादित सभी वस्तुओं और सेवाओं के मौद्रिक मूल्य को सकल घरेलू उत्पादन कहते है शुध्द घरेलू उत्पाद (N.D.P.) सकल घरेलू उत्पाद में से जब उत्पादन में प्रयुक्त मशीनों और पूंजी की घिसावट को […]

important fact agriculture

भारतीय अर्थव्यवस्था (भारतीय कृषि से सम्बंधित महत्वपूर्ण तथ्य) वर्तमान में भारत के GDP में कृषि क्षेत्र का 17.1% योगदान है, जबकि 1950-51 में कृषि क्षेत्र का योगदान 55.40 % था भारत में कृषि क्षेत्र का 60% भाग पूर्णत: वर्षा पर निर्भर है भारत में कृषि क्षेत्र के GDP का 0.3 % भाग कृषि शोध पर […]

Indian banking system

भारतीय बैंकिंग प्रणाली और भारतीय रिज़र्व बैंक भारतीय बैंकिंग प्रणाली को भारतीय रिज़र्व बैंक (Reserve Bank of India / RBI) नियन्त्रित करती है| बैंक ऑफ़ हिन्दुस्तान भारत का पहला बैंक था,इसकी स्थापना कोलकाता में एलेक्जेंडर एण्ड कम्पनी द्वारा 1770 ई. में यूरोपीय पद्धति में की गई थी | भारतीयों द्वारा संचालित सीमित देयता के आधार […]

Indian states on the basis of size of economy

अर्थव्यवस्था के आकार के आधार पर भारत के राज्य राज्य/संघ क्षेत्र जीडीपी (अरबरुपयों में) प्रति व्यक्ति आय (हज़ार रूपयों में) भारत 37900.63 31.6050881 महाराष्ट्र 4324.13 44.6345095 उत्तर प्रदेश 2737.85 16.4734311 आंध्र प्रदेश 2611.73 30.484629 तमिल नाडु 2462.66 35.818434 पश्चिम बंगाल 2360.44 29.4406481 गुजरात 2166.51 42.7563946 कर्णाटक 1740.93 33.1298275 राजस्थान 1241.99 21.9793277 मध्य प्रदेश 1185.86 19.6503537 […]

characteristics of Indian economy

भारतीय अर्थव्यवस्था के लक्षण भारत एक निम्न मध्यम आय वाली विकासशील अर्थव्यवस्था का उदाहरण प्रस्तुत करता है किंतु सकल घरेलू उत्पाद जीडीपी में हो रही तेज वृद्धि के चलते यह आगामी कुछ वर्षों में मध्यम आय वाले देशों के वर्ग में प्रवेश कर जाएगा भारतीय अर्थव्यवस्था में विकासशील अर्थव्यवस्था के लक्षण पाए जाते हैं प्रति […]

Five Year Plan in india

पंचवर्षीय योजनाएं एवं भारतीय कृषि (Five Year Plans and Indian Agriculture) प्रथम पंचवर्षीय योजना (1951 से 56) (First five year plan) इसमें देश में खाद्य संकट को दूर करने के उद्देश्य से कृषि क्षेत्र को प्राथमिकता दी गई कुल राजस्व आवंटन का 31% कृषि क्षेत्र को प्रदान किया गया | परिणामत: तथा औसत वार्षिक उत्पादन […]

industry of indian states

भारत के राज्यों के उद्योग अरुणाचल प्रदेश के उद्योग अरुणाचल प्रदेश की विशाल खनिज संपदा के संरक्षण के लिए 1991 में ‘अरुणाचल प्रदेश खनिज विकास’ और ‘व्यापार निगम लिमिटेड’ (ए. पी. एम. डी. टी. सी. एल.) की स्थापना की गई थी। आंध्र प्रदेश के उद्योग हैदराबाद और विशाखापत्तनम के पास बड़े उद्योगों में मशीनी औज़ार, […]

Sector of economy

अर्थव्यवस्था के क्षेत्रक (Sector of economy) सामान्यतः संपूर्ण अर्थव्यवस्था की आर्थिक गतिविधियों को लेखांकित करने के लिए तीन क्षेत्रकों में विभाजित किया गया है- प्राथमिक क्षेत्रक (Primary sector) इसके अंतर्गत अर्थव्यवस्था के प्राकृतिक क्षेत्रों का लेखांकन किया जाता है इसके अंतर्गत निम्न क्षेत्रों को सम्मिलित किया जाता है जैसे – कृषि वानिकी मत्स्यन (मछली पकड़ना) […]

Various types of cultivation names

विभिन्न प्रकार की खेतियां के नाम (Various types of cultivation names) 1 एरोपोनिक (Aeroponic) पौधों को हवा में उगाना 2 हॉर्टिकल्चर (Horticulture) बागवानी 3 ओलेरीकल्चर (Olericulture) सब्जी विज्ञान 4 विटीकल्चर (Viticulture) अंगूर की खेती 5 पिसीकल्चर (Pisciculture) मत्स्यपालन 6 मोरीकल्चर (Moriculture) रेशम कीट हेतु शहतूत उगाना 7 एपीकल्चर (Apiculture) मधुमक्खी पालन 8 फ्लोरीकल्चर (Floriculture) फूल […]